जम्मू, जागरण संवाददाता : चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू ने कश्मीर घाटी में बाहरी राज्यों के लोगों की हत्याओं पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए कहा है कि कश्मीर में जो हालात बने हैं, उससे पूरे जम्मू-कश्मीर के व्यापार पर बुरा असर पड़ेगा। चैंबर ने कहा है कि आगामी सर्दियों के सीजन में देश के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालुओं व पर्यटकों के जम्मू-कश्मीर आने की उम्मीद थी लेकिन ऐसे हालात देख लोग अपने प्लान बदल देंगे। चैंबर ने भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय आयोजक सचिव सुरेश जैन से चर्चा के दौरान यह चिंता व्यक्त की।

सुरेश जैन रेलहैड काम्पलेक्स स्थित चैंबर हाउस पहुंचे थे। इस बैठक के दौरान चैंबर प्रधान अरूण गुप्ता ने कश्मीर के मौजूदा हालात पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि कश्मीर में जो हालात बने हैं, उससे पूरे देश-दुनिया में गलत संदेश जा रहा है और अगर यहीं हाल रहे तो आने वाला पर्यटन सीजन पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा। गुप्ता ने कहा कि कोरोना महामारी का प्रकोप कम होने से पर्यटन उद्योग फिर पटरी पर आने की उम्मीद बंधी थी लेकिन अब हालात चिंताजनक बने हुए हैं।

चैंबर प्रधान ने इस मौके पर जम्मू से जुड़े कई मुद्दों पर भी सुरेश जैन से चर्चा की। प्रधान ने महाजन, खत्री, जैन व सिख समुदाय के लोगों को कृषि भूमि खरीदने का अधिकार न दिए जाने, शराब विक्रेताओं के पुराने लाइसेंस बहाल करने तथा बार संचालकों को अपना लाइसेंस रिन्यू करवाने के लिए अतिरिक्त समय दिए जाने, जम्मू में रिलायंस स्टोर खोलने, दरबार मूव पर स्थिति स्पष्ट करते हुए इसे भविष्य में भी जारी रखने तथा शहर की कई कालोनियों में लोगों को अपने प्लाट के आगे की जमीन खाली करने संबंधी जारी नोटिस के मुद्दे पर सुरेश जैन से चर्चा की।

इस मौके पर चैंबर के वरिष्ठ उप-प्रधान अनिल गुप्ता, उप-प्रधान राजीव गुप्ता, महासचिव गौरव गुप्ता, सचिव राजेश गुप्ता व कोषाध्यक्ष राजेश गुप्ता के अलावा रिटेलर्स फेडरेशन के नवनिर्वाचित प्रधान यशपाल गुप्ता मुख्य रूप से मौजूद रहे।

Edited By: Rahul Sharma