जागरण संवाददाता, जम्मू : शहर के डोगरा चौक में रहने वाले जम्मू कश्मीर पुलिस के इंस्पेक्टर विवेक बसन की पत्नी नेहा कुमारी की कथित हत्या मामले में सीबीआइ जम्मू ने शुक्रवार को चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में चालान पेश कर दिया। सीबीआइ ने पुलिस इंस्पेक्टर को दहेज प्रताड़ना, दहेज हत्या और आ‌र्म्स एक्ट का दोषी बताते हुए चालान पेश किया है।

सीबीआइ प्रवक्ता के अनुसार 26 मार्च 2019 को सीबीआइ ने कोर्ट के निर्देश पर इस मामले की जांच को शुरू किया था। नेहा देवी के पिता ने कोर्ट में मामले की जांच को सीबीआइ से करवाने की मांग की थी। इससे पूर्व 18 मई 2018 को पक्काडंगा पुलिस ने आरोपित इंस्पेक्टर के विरुद्ध आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था। सीबीआइ ने मामले की जांच फोरेंसिक रिपोर्ट, घटनास्थल से मिले सबूतों के आधार पर किया है। जांच में यह बात सामने आई कि इंस्पेक्टर विवेक बसन के अपनी पत्नी से रिश्ते अच्छे नहीं थे। उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था। यह भी आरोप था कि विवेक बसन ने अपनी सर्विस राइफल से पत्नी की हत्या कर दी थी। इतना ही नहीं, मामले में अहम सबूतों के साथ छेड़छाड़ होने की बात भी बताई जा रही थी। सबूतों के आधार पर सीबीआइ ने कोर्ट में चालान पेश किया है। नेहा की मौत के बाद लोगों में भारी गुस्सा था।

----

क्या है मामला

शहर के डोगरा हाल इलाके में रहने वाले इंस्पेक्टर विवेक बसन की पत्नी नेहा कुमारी का शव 25 फरवरी 2018 को उसके ससुराल में बरामद हुआ था। नेहा के शव के पास उसके पति की सर्विस राइफल पड़ी थी। गोली नेहा के सिर में लगी थी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। नेहा को जब गोली लगी थी तक उसका पति पुलिस इंस्पेक्टर विवेक बसन घर पर ही था। पक्काडंगा पुलिस ने पहले मामले की जांच सीआरपीसी की धारा 174 के तहत दर्ज किया था। बाद में 26 मार्च 2018 को विवेक के विरुद्ध पक्काडंगा थाने में दहेज प्रताड़ना और दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस