जम्मू, राज्य ब्यूरो । जम्मू कश्मीर में अगले तीन वर्षो सभी घरों में पाइप लाइन के जरिये पानी पहुंचा दिया जाएगा। सरकार ने जलजीवन मिशन के तहत जम्मू-कश्मीर के सभी घरों में 2022 तक पानी पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

पीएचई विभाग के आयुक्त सचिव एके साहु का कहना है कि सरकार ने लोगों को पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कई कदम उठाए हैं। जिन क्षेत्रों में पानी की कमी है, उन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने साल 2024 तक देश भर के सभी घरों में पानी पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया है, लेकिन जम्मू कश्मीर में इससे पहले दो साल का लक्ष्य रखा है। उन्होंने अधिकारियों को लक्ष्य पूरा करने के लिए काम में तेजी लाने को कहा।

उन्होंने नए कनेक्शन आधार के साथ जोड़ने के लिए भी कहा। साहु ने यह निर्देश जल जीवन मिशन, नेशनल रूरल डिकिंग वाटर प्रोग्राम और नाबार्ड के तहत चल रही योजनाओं की समीक्षा करते हुए दिए। उन्होंने अधिकारियों से तकनीकों का इस्तेमाल करते हुए सभी कनेक्शनों की जियो टैगिंग करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इससे पानी सप्लाई करने वाली पाइपलाइन का सही जीआइएस मैप मिलेगा। उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश के दूरदराज के क्षेत्रों में पानी सप्लाई की निगरानी करने के लिए कहा। उन्होंने अधिकारियों से पीएचई के सभी प्रोजेक्ट समय पर पूरा करने को कहा ताकि लोगों को इनका लाभ मिल सके। बैठक में पेयजल सप्लाई योजनाओं को अपग्रेड करने पर भी चर्चा हुई।

श्रीनगर, बड़गाम, गांदरबल और बांडीपोरा में लंबित प्रोजेक्टों को समय पर पूरा करने पर भी जोर दिया गया। उन्होंने डिप्टी कमिश्नरों को भी पीएचई के प्रोजेक्टों की नियमित तौर पर निगरानी करने को कहा। डिप्टी कमिश्नर श्रीनगर डॉ. शाहिद इकबाल, डिप्टी कमिश्नर बडगाम तारिक हुसैन गनई, डिप्टी कमिश्नर गांदरबल हशमत अली सहित कई अधिकारी बैठक में मौजूद थे।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप