जम्मू, जागरण संवाददाता। पिछले कुछ दिनों से जम्मू के विभिन्न इलाकों में बार बार ड्रोन भेज रहे पाकिस्तान के समक्ष बीएसएफ ने कड़ी आपत्ति दर्ज करवाई है। पाकिस्तान रेंजर्स के साथ सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक में पाकिस्तान की इस हरकत पर बीएसएफ ने कड़ा एतराज जताते हुए इसे तुरंत बंद करने के लिए कहा।

आरएसपुरा के सुचेतगढ़ स्थित अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हुई बैठक

पाकिस्तान रेंजर्स के आग्रह पर ही शनिवार को आरएसपुरा के सुचेतगढ़ में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक का आयोजन किया गया था। बीएसएफ की ओर से डीआईजी सुरजीत सिंह ने बैठक का नेतृत्व किया जबकि पाकिस्तान रेंजर्स की ओर से सेक्टर कमांडर सियालकोट सेक्टर ब्रिगेडियर मुराद हुसैन अपने अधिकारियों के साथ बैठक में शामिल हुए।

सीमा पर युद्ध विराम के समझौते के बाद भी यह पहली सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक थी जिसमें बीएसएफ और पाक रेंजर्स शामिल हुए। बैठक में शामिल दोनों से अधिकारियों ने सीमा पर शांति बहाली रखने पर चर्चा की और एक दूसरे को सहयोग करने का आश्वासन दिया। उधर बीएसएफ ने पाकिस्तानी रेंजर्स के सामने सीमा पार से भारतीय इलाकों में बार बार ड्रोन भेजने और ड्रोन से हथियार, नशा आदि भेजे जाने की हरकतों पर कड़ा एतराज जताया।

बीएसएफ ने इसके अलावा बीएसएफ ने पाकिस्तानी क्षेत्र से आतंकियों की घुसपैठ और सीमा पार से सुरंग खोदे जाने के मामलों को भी उठाया। बीएसएफ ने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के बीच शांति के प्रयासों को नुकसान पहुंचेगा। वहीं दोनों ओर से बैठक में शामिल अधिकारियों ने निर्णय लिया कि जब भी आवश्यकता होगी, दोनों ओर से कमांडर स्तर बैठक का आयोजन किया जाएगा। बैठक साैहार्दपूर्ण माहौल में संपन्न हुई और दोनों ओर से अधिकारियों ने युद्ध विराम की शर्तों का पालन करने का आश्वासन भी एक दूसरे को दिया।

Edited By: Vikas Abrol