संवाद सहयोगी, आरएसपुरा : पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर वीरवार को भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने आरएसपुरा में कैंडल मार्च निकालकर रोष जताया गया। कैंडल मार्च कस्बे के दलजीत चौक से शुरू हुआ और हनुमान चौक में जाकर संपन्न हुआ।

इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और वहां राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की। पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय सचिव सरदार नरेंद्र ¨सह ने कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ पंजाब कांग्रेस ने साजिश रची और उनकी सुरक्षा में चूक की गई। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा क्योंकि देश की जनता के सामने कांग्रेस का पर्दाफाश हो गया है।

इस मामले की जांच होनी चाहिए कि कौन लोग इसमें जिम्मेदार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस हाईकमान द्वारा पीएम की रैली को विफल बनाने के लिए षड्यंत्र रचा गया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने आज देश भर में कैंडल मार्च निकालकर कांग्रेस को सद्बुद्धि आने की कामना की। इस मौके पर मंडल प्रधान राकेश गुप्ता, कृष्ण चौधरी, गार ¨सह, विक्रम संधू, सरपंच दर्शन चौधरी, हैप्पी ¨सह, आहुति शर्मा, म्यूनिसिपल कमेटी आरएसपुरा के चेयरमैन सतपाल पप्पी, पार्षद किशोर शर्मा, भाजपा के जिला महासचिव आकाश चोपड़ा, गौरव शर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता रैली में शामिल हुए।

चन्नी सरकार का पुतला जलाया :  जिले के घगवाल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत ¨सह चन्नी के खिलाफ प्रदर्शन किया। जम्मू-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी का पुतला भी फूंका। कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस, चन्नी मुर्दाबाद के नारे लगाए। प्रदर्शन की अगुआई जिला विकास परिषद के सदस्य सुरेश कुमार फल्ली कर रहे थे। उन्होंने बताया कि देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी प्रधानमंत्री को अपने ही देश में रोका गया हो। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ यह कोई साजिश रची गई थी, बहुत शर्मनाक है।