श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। कश्मीर में आधार मजबूत करने की कवायद में जुटी भाजपा जल्द बड़ा सियासी उलटफेर करने की तैयारी में है। सूत्रों की मानें तो पार्टी की राज्य इकाई ने श्रीनगर नगर निगम में तख्तापलट की तैयारी पूरी कर ली है और जल्द मेयर जुनैद अजीम मट्टू और डिप्टी मेयर शेख इमरान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है।

चर्चा है कि इनके स्थान पर भाजपा नेता आरिफ राजा को मेयर व नजीर अहमद गिलकार को डिप्टी मेयर चुना जा सकता है। हालांकि चर्चा है कि उलटफेर की आशंका के बीच मट्टू ने भाजपा नेतृत्व से चर्चा भी की है पर बात फिलहाल बन नहीं पाई है। उधर मट्टू ने इसे केवल कयास करार दिया है।

मट्टू पीपुल्स कांफ्रेंस के टिकट पर भाजपा के समर्थन से मेयर चुने गए थे। पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद गनी लोन वर्ष 2015 में जम्मू कश्मीर में सत्ता संभालने वाली भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार में भाजपा के कोटे से कैबिनेट मंत्री भी रहे। वह प्रधानमंत्री को अपना भाई भी बताते रहे हैं।

अलबत्ता, राज्य के पुनर्गठन के विषय पर वह भाजपा के खिलाफ हो गए। तब से वह हिरासत में चल रहे हैं। मट्टू व इमरान भी लगातार हिरासत में रहे। जुनैद मटटु को गत माह स्वास्थ्य आधार पर हिरासत से रिहा किया गया था और इस समय वह मुंबई में अपना इलाज करवा रहे हैं।

कश्मीर में सियासी दलों की निष्क्रियता के बीच भाजपा ने अपना आधार मजबूत करना आरंभ कर दिया है। बताया जा रहा है कि भाजपा की प्रदेश इकाई के वरिष्ठ नेता कुछ दिनों से श्रीनगर में लगातार पीपुल्स कांफ्रेंस, नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस और निर्दलीय कॉरपोरेटरों से बैठकों में जुटे हैं। बताया जा रहा है कि भाजपा के प्रदेश महासचिव अशोक कौल स्वयं अपने हाथ में कमान रखे हैं। फिलहाल वह इस मसले पर चुप्पी साधे हैं।

लंबे समय से चल रही तैयारी

सूत्रों की मानें तो भाजपा ने गत माह ही तख्तापलट की तैयारी कर ली थी लेकिन कुछ पार्षदों के समर्थन की कमी पड़ गई। फिलहाल, अब यह कमी पूरी कर ली गई है और जल्द अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है। हाईकमान से हरी झंडी मिलते ही भाजपा के समर्थक कॉरपोरेटर जल्द सरकार को पत्र लिख नगर निगम की बैठक बुलाने व अविश्वास प्रस्ताव की मांग करेंगे। श्रीनगर नगर निगम में 70 कॉरपोरेटर हैं। इनमें से मात्र चार ही भाजपा के हैं। कांग्रेस के सबसे ज्यादा 17, पीपुल्स कांफ्रेंस के 15, नेकां के 11 और 23 अन्य निर्दलीय हैं।

कौन हैं जुनैद मट्टू

पीपुल्स कांफ्रेंस के जुनैद मट्टू 6 नवंबर 2018 को श्रीनगर के मेयर बने थे। तब उन्हें भाजपा समेत 40 पार्षदों का समर्थन हासिल था। इससे पहले वह नेशनल कांफ्रेंस से जुड़े रहे और चुनाव से पहले उन्होंने पीपुल्स कांफ्रेंस का दामन थाम लिया था। मट्टू ने श्रीनगर के चार वार्डों से चुनाव लड़ा था और तीन में जीत दर्ज की थी।

यह सब कयास : मट्टू

मुंबई से फोन पर जुनैद मट्टू ने कहा कि हमारे पार्षदों का भ्रमित करने के लिए ऐसी खबरें फैलाई जा रही हैं। जब आवश्यकता होगी हम सदन में बहुमत साबित करेंगे। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021