श्रीनगर, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर मामलों के प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने सोमवार को कहा कि केंद्र हुर्रियत नेताओं के साथ बातचीत करने को तैयार है परंतु यह बातचीत भारतीय संविधान के दायरे में ही की जाएगी।

"हम बातचीत के लिए हमेशा तैयार हैं। हुर्रियत नेता हमारे ही लोग हैं। वे भी जम्मू-कश्मीर के निवासी हैं। इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बातचीत के लिए उनका स्वागत करेंगे लेकिन यह बातचीत भारतीय संविधान के दायरे में ही की जाएगी। खन्ना ने यह बात श्रीनगर में पार्टी समारोह के दौरान पत्रकारों से कही।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के हरेक नागरिक का विश्वास जीतने का प्रयास कर रहे हैं। उन्हें इसमें काफी हद तक सफलता भी मिल रही है। धीरे-धीरे ही सही कश्मीर में शांतिपूर्ण माहौल बन रहा है।

सदन रहे कि हुर्रियत कांफ्रेंस (एम) के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने गत दिनों यह बयान दिया था कि वह कश्मीर पर भारत सरकार से बातचीत करने को तैयार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हुर्रियत महेशा से यह चाहती है कि बातचीत के जरिए इस मामले का हल निकले और कश्मीर में एक बार फिर शांति कायम हो। वहीं राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी उमर फारूक की बातचीत की पेशकश का स्वागत करते हुए कहा कश्मीर में वातावरण बदल रहा है। हुर्रियत नेता स्वयं बातचीत को तैयार है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप