जम्मू, जागरण संवाददाता। ट्रैफिक पुलिस मनमानी का आरोप लगाते हुए आटो चालकों ने शुक्रवार को ट्रांसपोर्ट कमिश्नर कार्यालय का घेराव किया। ट्रैफिक पुलिस के खिलाफ नारे लगा रहे इन आटो चालकों ने आरोप लगाया कि उन्हें बेवजह तंग किया जा रहा है। सड़कों पर उतरते ही उन्हें नाकों पर रोक लिया जाता है और किसी न किसी बहाने चालान कर दिया जाता है। एेसे में उनके लिए आटाे चलाना भी मुश्किल हो गया है।

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे आटो यूनियन के प्रधान राम सरूप ने यह आरोप भी लगाए कि ट्रैफिक कर्मी उनसे बदतमीजी से पेश आते हैं। आटो चालक अब मीटर पर सवारियों को ले जा रहे हैं लेकिन इसके बावजूद उनके मीटरिंग के चालान काटे जा रहे हैं। इससे तो यही स्पष्ट होता है कि उन्हें जानबूझकर तंग किया जा रहा है। उन्होंने ट्रांसपोर्ट कमिश्नर से उनकी समस्या काे हल करने की अपील की।

इसी बीच आटो चालकों ने कमिश्नर के समक्ष किराया वृद्धि की मांग भी रखी। उन्होंने बताया कि पहले दो किलाेमीटर का किराया 33 रुपये और उसके आगे दो किलोमीटर का किराया चौदह रुपये तय हुआ है, यह काफी कम है। इतने में उनका पेट्रोल व आटो के रखरखाव का खर्च भी पूरा नहीं होता। उनकी मांग है कि इसे बढ़ाकर पहले दो किलोमीटर पचास रूपये जबकि उसके आगे दो किलोमीटर का किराया पच्चीस रुपये किया जाए।

ट्रांसपोर्ट कमिश्नर कार्यालय पहुंचने से पहले आटो चालकों ने विवेकानंद चौक में भी प्रदर्शन किया। इस पर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डा. एसपी वैद ने यूनियन प्रधान राम सरूप को बाचीत के लिए अपने कार्यालय में बुलाया और सभी परेशानियों को सुना। डा. वैद ने आटो चालकों के किराए को बढ़ाए जाने पर विचार करने का आश्वासन दिया। प्रधान ने इस दौरान आटो चालकों के लाइसेंस का मुद्दा उठाते हुए उन्हें लाइट मोटर व्हीकल के लाइसेंस पर गाड़ी चलाने की अनुमति प्रदान करने की मांग भी उठाई। उन्होंने बताया कि कई राज्यों में इस लाइसेंस पर आटो चलाए जा रहे हैं। वैद ने यूनियन प्रधान को अश्वस्त किया कि वह उनकी मांगों पर विचार करेंगे। जहां ट्रैफिक पुलिस के तंग करने की बात है तो वह इस बारे में संबंधित अधिकारियों से भी बात करेंगे।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप