जम्मू, जेएनएन। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच राजौरी जिला के डोरीमान में जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को एक आतंकी को ढेर करने में सफलता मिली है। फिलहाल अभी भी दोनों ओर से फायरिंग जारी है। रविवार सुबह सेना ने स्थानीय पुलिस के साथ राजौरी जिला के करीब छह गांवों में रविवार सुबह से तलाशी अभियान चलाया। इसी दौरान डोरीमान के जंगलों में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, आतंकी जिस जगह पर छिपे हैं, उसे घेर लिया गया है। अभी भी दो से तीन के बीच आतंकी छिपे हुए बताए जा रहे हैं।

इससे पहले गत शनिवार को सेना ने राजौरी जिला के थन्नमंडी क्षेत्र से एक ग्रेनेड बरामद किया था। इसके तुरंत बाद क्षेत्र में तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शनिवार को थन्नामंडी इलाके से ग्रेनेड बरामद होने के उपरांत आसपास के क्षेत्रों में तलाशी अभियान छेड़ दिया गया था। रात को इसे रोक दिया था जबकि रविवार सुबह राजौरी के छह गांवों में तलाशी अभियान छेड़ दिया गया। इसी दौरान थन्नामंडी के ऊपरी इलाके डोरीमान के जंगलों में छिपे आतंकियों को जब सुरक्षाबलों के तलाशी अभियान का पता चला तो उन्होंने आगे बढ़ रहे सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दी। जवाब में सुरक्षाबलों ने भी आतंकियों पर फायरिंग शुरू कर दी है। दोनों ओर से फायरिंग जारी है।

यहां यह बताना जरूरी है कि थन्नामंडी के पंगाई में गत महीने दो बार सुरक्षाबलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ हो चुकी है। पहली मुठभेड़ पंगाई इलाके और दूसरी मुठभेड़ पंगाई से कुछ ही दूरी पर स्थित एक स्थान पर हुई थी। इन दोनों मुठभेड़ों में तीन आतंकियों को मार गिराने में सुरक्षाबलों को सफलता हासिल हुई थी।

कश्मीर में आतंकियों की घटती संख्या से पाकिस्तान में बैठे आतंकी आका काफी मायूस है। यही वजह है कि वे एक बार फिर से राजौरी और पुंछ जिला में आतंकी गतिविधियों को सक्रिय करने में जुटे हैं। हाल ही में किश्तवाड से भी एक आतंकी को पकड़ने में सफलता हासिल हुई थी।

Edited By: Vikas Abrol