पुंछ, जेएनएन। जिला पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे गांवों में आतंकी घुसपैठ की आशंका के चलते सेना ने आज तीसरे दिन लगातार सर्च ऑपरेशन जारी रखा। पाकिस्तानी सेना ने पिछले एक सप्ताह से मेंढर सेक्टर में गोलाबारी बढ़ा दी है। पाक सेना भारतीय चौकियों के साथ-साथ रिहायशी इलाकों में गोले दाग रही है। सुरक्षा एजेंसियों ने भी सेना को सूचित किया है कि गुलाम कश्मीर में स्थित लांचिंग पैड पर सैंकड़ों आतंकवादी एकत्र हो चुके हैं और वे अब भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की फिराक में हैं।

इस चेतावनी के बाद सेना हर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। वे किसी भी तरह की लापरवाही नहीं कर रहे हैं। नौशहरा सेक्टर में घुसपैठ के दौरान तीन आतंकवादियों के मारे जाने के बाद जिला पुंछ में तैनात राष्ट्रीय राइफल के जवान हर दिन सीमा से सटे जंगलों में तलाशी अभियान चला रहे हैं। आज भी मेंढर के साथ लगते करीब पांच गांवों में तलाशी अभियान चलाया गया। हालांकि इस दौरान आतंकवादियों की मौजूदगी की पुष्ट नहीं हुई है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राइफल के जवानों का सर्च ऑपरेशन सुरक्षा व्यवस्था को यकीनी बनाने के मद्देनजर है। गुलाम कश्मीर में आतंकवादियों की मौजूदगी के साथ हर दिन पाक द्वारा नियंत्रण रेखा पर गोलाबारी का सिलसिला बढ़ जाने से सेना को यह लग रहा है कि इस गोलाबारी की आड़ में पाकिस्तान कभी भी आतंकवादियों को भारतीय सीमा में धकेल देगा। यही वजह है कि पिछले तीन दिनों से सेना ने आठ से अधिक गांवों में सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है। दरअसल नियंत्रण रेखा से सटे इन गांवों का काफी क्षेत्र जंगल में है। आतंकवादी घुसपैठ कर इन जंगलों में शरण ले सकते हैं।

आज राष्ट्रीय राइफल के जवानों ने मेंढर सेक्टर के साखी मैदान, टोपा ठेरा, बैरी रख, बाटाकस, छजिला, त्राना में सर्च ऑपरेशन चलाया। जवानों ने जंगल का चप्पा-चप्पा छाना। यही नहीं इन जंगलों के साथ लगते रिहायशी इलाकों को भी अलर्ट रहने को कहा गया है। किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधि देखे जाने पर पुलिस या फिर सेना को सूचित करने को कहा गया है। इससे पहले सेना ने काला बन, सलवा सहित अन्य गांवों में भी सर्च ऑपरेशन चलाया था।

पाकिस्तान की नापाक हरकतों को देख सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी सीमा सुरक्षा में तैनात जवानों को दुश्मन की हरेक गोली का कड़ा जवाब देने और घुसपैठ कर भारतीय सीमा में प्रवेश करने का अवसर ढूंढ रहे आतंकवादियों के मंसूबों को नापाक बनाने के आदेश दिए हैं। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस