जम्मू, जागरण संवाददाता : शहर में बिजली की हो रही कटौती से बनी पानी की किल्लत से लोगों का गुस्सा बढ़ रहा है। शुक्रवार को डोगरा फ्रंट शिव सेना के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे। इन दिनों शहर के कई लोगों को तो पानी दूर दूर के इलाकों से लाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। करण नगर, कालीजनी, रेशम घर, रघुनाथ पुरा क्षेत्र में पानी की किल्लत हो चली है।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रशासन शहर के लोगों को पानी देने में नाकाम साबित हो रहा है। हाथों में खाली बर्तन लेकर कार्यकर्ताओं ने जमकर नारे लगाए। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पानी हर व्यक्ति की बुनियादी जरूरत है, लेकिन फिर भी लोगों को पानी नहीं मिल रहा। बिजली की बार बार कटौती हो रही है। चूंकि जनरेटर सेट हर ओर नहीं हैं और बिजली की कटौती होने पर पानी की सप्लाई नहीं हो पाती और खमियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। इसे किसी भी हाल में सहन नहीं किया जाएगा।

मौके पर प्रदेश अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने कहा कि दिन भर बिजली का आना-जाना लगा रहता है।

जम्मू-कश्मीर बिजली उत्पादक क्षेत्र है, जहां तो रॉयल्टी में मिलने वाली बिजली से ही लोगों की जरूरत पूरी हाे जानी चाहिए। बिजली की कटौती का तो कोई मतलब ही नहीं बनता। मगर बार-बार बिजली की कटौती हो रही है और इसके कारण पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही। गुप्ता ने कहा कि प्रशासन का पहला काम है कि लोगों को बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराए। अगर शहर के लोगों को पेयजल नहीं मिल पाया तो डोगरा फ्रंट शिव सेना को बड़े पैमाने पर आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। सरकार की जिम्मेदारी है कि सबको पेयजल उपलब्ध कराए। मौके पर आशीष, ननकी, बाजो,सुषमा,कृष्ण, केवल कुमार, लब्बा राम, प्रेम आदि उपस्थित थे।