जम्मू, राज्य ब्यूरो : प्रदेश में अब आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को संगिनी और हेल्पर को सहायिका कहा जाएगा। प्रदेश सरकार ने मंगलवार को महिला सशक्तीकरण की दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए एकीकृत शिशु विकास योजना (आइसीडीएस) के तहत जम्मू कश्मीर में कार्यरत महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायकों के लिए समग्र मानव संसाधन नीति को मंजूरी दे दी है। उनकी नियुक्ति और अवकाश के नियम भी परिभाषित कर दिए गए हैं। अब संगिनी या सहायिका की नियुक्ति उसके वार्ड में ही होगी, न कि दूसरे वार्ड में। नियुक्ति के बाद अगर कोई दूसरे वार्ड में जाकर बसेगा तो नियुक्ति को स्वत: रद मान लिया जाएगा।

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में प्रदेश प्रशासनिक परिषद बैठक हुई है। इसमें आंगनबाड़ी कार्यकताओं और हेल्परों के लिए समग्र मानव संसाधन नीति को मंजूरी दी गई है। अब इनकी चयन प्रक्रिया में किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए उनका चयन भी अब वार्ड के आधार पर होगा। नई नीति के मुताबिक संगिनी और सहायिका के लिए जम्मू कश्मीर का डोमिसाइल जरूरी है।

नई नीति में इनके अवकाश, प्रशिक्षण, क्षमता विकास और उनकी सेवाओं को समाप्त किए जाने के नियम भी स्पष्ट किए गए हैं। दोनों पदों के लिए सेवानिवृत्ति की आयु 60 वर्ष होगी। रिक्तियों को निर्धारित प्रक्रिया के अनुरूप भरा जाएगा। अगर कोई संगिनी या सहायिका नियुक्ति के बाद किसी दूसरे वार्ड में स्थायी तौर पर बस जाती है या संबंधित वार्ड के बाहर किसी अन्य जगह रहने चली जाती है तो उसकी नियुक्ति स्वत: रद मानी जाएगी। इस स्थिति में रिक्त पद को तय चयन प्रक्रिया के आधार पर भरा जाएगा। बैठक में उपराज्यपाल के सलाहकार आरआर भटनागर और मुख्य सचिव डा. अरुण कुमार मेहता मौजूद रहे।

नियुक्ति के लिए यह शैक्षणिक योग्यता जरूरी : आंगनबाड़ी संगिनी के लिए कम से कम 12वीं और अधिकतम स्नातक होना जरूरी है। अगर संबंधित वार्ड में जिसके लिए चयन होना है, में अगर कोई 12वीं पास उम्मीदवार नही हैं तो फिर मिशन निदेशक आइसीडीएस की अनुमति प्राप्त करने के बाद साथ सटे वार्ड की 12वीं उत्तीर्ण उम्मीदवार के चयन पर भी विचार किया जा सकता है। 12वीं में प्राप्त अंकों को वरीयता दी जाएगी। चयन योग्यता के आधार पर ही होगा। स्नातक से ज्यादा की शैक्षिक योग्यता रखने वाले उम्मीदवारों पर कोई विचार नहीं होगा। उन्हें चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाएगा। आंगनबाड़ी सहायिका के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता दसवीं उत्तीर्ण रखी गई है। 

Edited By: Rahul Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट