जम्मू, दिनेश महाजन : मादक तस्करों के विरुद्ध जम्मू पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत लखनपुर जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुलिस की सख्ती के चलते मादक तस्करों ने अपनी रणनीति में बदलाव कर दिया है। मादक तस्कर अब बाहरी राज्यों से जम्मू में नशे की खेप को रेल मार्ग के जरिए जम्मू पहुंचा रहे है।

मादक तस्करों की इस रणनीति से अवगत होकर त्रिकुटा नगर पुलिस ने जम्मू रेलवे स्टेशन के आउटर में सख्ती बढ़ा दी है। जिसके नतीजे सामने आने लगे है। बीते तीन दिन से लगातार पुलिस गांजे की तस्करी के आरोप में लोगों को पकड़ रही है। हैरान करने वाली बात यह है कि रेलवे पुलिस को इस बात की भनक भी नहीं लग रही की रेलगाड़ियों में नशे की खेप जम्मू पहुंच रही है।

इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता की मादक तस्करों की रेलवे पुलिस की सांठगांठ भी हो सकती है। जिससे मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले लोग बे-खोफ होकर अपना काम कर रहे है। रेलवे पुलिस के एक अधिकारी का कहना है कि उनके पास कर्मचारियों की कमी है। रेलवे पुलिस के जवान पेट्रोलिंग में ही व्यस्त रहते है उन्हें अन्य काम के लिए समय ही नहीं मिल पाता।

स्टेशन के आउटर में सामान फेंक देते है तस्कर : मादक पदार्थों की तस्करी करने के आरोपी एक नई रणनीति के तहत काम कर रहे है। जम्मू रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने से पूर्व आउटर में जैसे ही रेलगाड़ी की गति धीमी होती है तो तस्कर नशीले पदार्थ रखे अपने बैग आउटर में फेंक देते है। तस्करों के साथी पहले ही आउटर में उनका इंतजार कर रहे होते है। नशे का सामान उठा कर तस्करों के साथी पटरी के किनारे बनी श्रमिक बस्तियों में से निकल कर स्टेशन के आउटर गेट में पहुंच जाते है। जिसमें वह बाहरी राज्य से नशीले पदार्थ लेकर जम्मू आए अपने साथी का इंतजार करते है। हैरान करने वाली बात यह है कि स्टेशन के आउटर में रेलवे पुलिस की पोस्ट भी है, लेकिन मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों को कोई नहीं पकड़ता।

रेलमार्ग से जरिए मादक पदार्थ लेकर जम्मू पहुंचने वाले तस्करों को त्रिकुटा नगर पुलिस ने पकड़ा

22 सितंबर : दो तस्करों को पकड़ा पांच किलो गांजा बरामद।

20 सितंबर : एक तस्कर को पकड़ा दो किलो गांजा बरामद।

18 सितंबर : एक तस्कर को पकड़ा एक किलो गांजा बरामद। 

Edited By: Rahul Sharma