जम्मू, जेएनएन। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बुधवार को एक बार फिर हुए ताजा भूस्खलन ने ट्रैफिक विभाग की दिक्कतें बढ़ा दी है। पिछले दो दिनों के दौरान मौसम में हुए सुधार के बाद अभी मलवा हटाने का काम पूरा ही हुआ था कि आज तड़के हुए भूस्खलन के कारण मलवा फिर सड़क पर उतर आया। करीब तीन दिनों से बंद जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर पांच हजार से अधिक वाहन फंसे हुए हैं। वहीं कश्मीर में सुबह हुई बर्फबारी की वजह से हवाई सेवाओं पर भी असर पड़ा।

ट्रैफिक विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि रामबन जिले में डिगडोल और पंथियाल बेल्ट में चार जगह ताजा भूस्खलन हुआ है। इसकी वजह से लगातार तीसरे दिन भी सड़क किनारे खड़े वाहन अपनी जगह से नहीं हिल पाए। हालांकि बर्फबारी फिर से शुरू होने की वजह से जवाहर टनल पर भी बर्फ जमना शुरू हो गई है। वहां भी जम्मू आने वाले वाहनों की लंबी कतारें लगी हुई हैं। ट्रैफिक विभाग ने नगरोटा में ही श्रीनगर आने वाले वाहनों को रोकना शुरू कर दिया है।

पिछले तीन दिनों से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने की वजह से जम्मू, ऊधमपुर, लखनपुर, रामबन, बनिहाल और कश्मीर में सात हजार से अधिक वाहन फंसे हुए हैं। यात्रियों को इसकी वजह से काफी परेशानी हो रही है।

वही कश्मीर में लगातार चौथे दिन भी हल्की बर्फबारी हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार कश्मीर के मैदानी इलाकों के अलावा जम्मू के पहाड़ी इलाकों व लद्दाख में बर्फबारी हो रही है। मंगलवार को दिन में तो मौसम शुष्क हो गया था परंतु देर रात से ताजा बर्फबारी शुरू हो गई। आज बुधवार से हो रही बर्फबारी की वजह से श्रीनगर हवाई अड्डे पर उड़ानों पर असर पड़ा। हिमपात से वायुमार्ग पर दृश्यता प्रभावित हुई और रनवे पर बर्फ जमा हो गई। वहीं अधिकारी ने कहा कि मौसम में सुधार होने पर ही हवाई सेवा बहाल हो पाएगी। सनद रहे कि खराब मौसम की वजह से श्रीनगर में रविवार और सोमवार को सभी उड़ाने रद कर दी गई। मंगलवार को दोपहर बाद हवाई जहाज उतरे परंतु देर रात को फिर से बर्फबारी होने पर सुबह न तो हवाई जहाज श्रीनगर से उड़ पाए और न ही उतर पाए।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस