जम्मू, रोहित जंडियाल। ऊधमपुर जिले के गंधटॉप क्षेत्र में धीरे-धीरे पहाड़ दरक रहा है और गांव गांव रसलीक गदेरन के दफन होने का संकट बन गया है। लगभग 50 परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। गांव में नौ मकान पूरी तरह से दफन हो चुके हैं और करीब चार घर आंशिक तौर पर क्षतिग्रस्त हुए हैं। इनमें से कई बहुमंजिला भवन भी थे। पहाड़ दरकने के कारण पूरा क्षेत्र कट भी गया है।

वहीं, रामनगर-बसंतगढ़ मार्ग बंद पड़ा है।रामनगर तहसील मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर स्थित गांव में तीन दिन पहले पूरा पहाड़ ही दरकने लगा, इससे एक मकान जमींदोज हो गया। देखते ही देखते नौ मकान पूरी तरह जमींदोज हो गए। चार मकानों को आंशिक नुकसान पहुंचा। इन परिवारों को घरों से सामान निकालने का भी समय नहीं मिला। करीब तीन सौ कनाल भूमि तबाह हो गई। इसमें घरों के अलावा दुकानें व खेत भी दफन हुए हैं।प्रशासन अभी भी तय नहीं कर पा रहा है कि क्या करे? प्रभावित क्षेत्र से लोगों को निकाल लिया गया है। तहसीलदार यासिर अराफात का कहना है कि कुछ लोगों को सरकारी स्कूल और कम्यूनिटी सेंटर में रखा गया है। नुकसान का जायजा लिया जा रहा है। भूस्खलन के कारणों का पता लगाने के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा गया है।

निजी कंपनी ने की थी खोदाई ग्रामीणों का कहना है कि कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही थी। इंटरनेट मुहैया करवाने वाली एक कंपनी ने इस पहाड़ के साथ पूरे क्षेत्र में चार से पांच फुट खोदाई की थी। इसमें पानी जाता रहा। मौसम साफ होते ही पूरा पहाड़ नीचे आ गया।रामनगर-बसंतगढ़ मार्ग चार दिन से बंदभूस्खलन से रामनगर-बसंतगढ़ मार्ग चार दिन से बंद पड़ा है। इस मार्ग का करीब 200 मीटर हिस्सा दब गया है। हालांकि प्रशासन ने मलबे को हटा दिया है, लेकिन फिसलन और भूस्खलन के कारण मार्ग को नहीं खोला गया है। अधिकारियों के अनुसार मार्ग खोलने में दो से तीन दिन लग सकता है।

छह साल पहले दफन हो गया था सद्दल

वर्ष 2014 में सद्दल गांव भी दफन हो गया था। रामनगर के इस क्षेत्र में भी उसी तरह की पहाडि़यां हैं। सख्त चट्टानों के बीच मिट्टी होने के कारण इसमें पानी चला जाता है। इसके साथ ही भूस्खलन शुरू हो जाता है। पहाड़ों के ऊपर बने रास्तों में गड्ढों को बंद किया जाना चाहिए ताकि पानी अंदर न जाए। पेड़ों के कटाव के कारण मिट्टी का कटाव तेजी से बढ़ा है और इस तरह की घटनाएं बढ़ रही हैं।-प्रो. एसके पंडिता, भूगर्भ विभाग विशेषज्ञ

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप