जम्मू, जेएनएन। जिला पुंछ में नियंत्रण रेखा से लगते मेंढर सेक्टर के लंगेट इलाके में पाकिस्तान की ओर से भारतीय सीमा में घुसपैठ कर रहे तीन घुसपैठियों को सतर्क जवानों ने मार गिराया है। मारे गए घुसपैठियों के शवों को अभी तक सेना ने अपने कब्जे में नहीं लिया है। हालांकि सेना ने आसपास के इलाकों में सर्च आॅपरेशन भी चलाया हुआ है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले कई हफ्तों से गुलाम कश्मीर में बैठे आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की फिराक में हैं। इससे पहले भी सेना ने जिला राजौरी एलआेसी पर स्थित कलाल में तीन जबकि कालाकोट में एक आतंकी को घुसपैड के दौरान मार गिराया था। गत सोमवार-मंगलवार की मध्यरात्रि को एक बार फिर गुलाम कश्मीर से कुछ घुसपैठियों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ का प्रयास किया। इनकी संख्या सात के करीब बताइ जा रही है। परंतु सतर्क भारतीय जवानों ने इस प्रयास को विफल बनाते हुए तीनों घुसपैठियों फेंसिंग के पार ही मार गिराया। बाकी चार वहां से भागने में सफल रहे। लंगेट इलाके में जंगल में सुरक्षाबलों का तलाशी अभियान अभी जारी है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पुंछ नियंत्रण रेखा से सटे खड़ी कड़माला इलाके में पाकिस्तानी सैनिकों ने गत सोमवार शाम को करीब 7.40 बजे सीज फायर का उल्लंघन करते हुए भारतीय चौकियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था। पहले तो सेना ने चौकियों पर गोलीबारी की परंतु बाद में मोर्टार दागना शुरू कर दिए। भारतीय जवानों ने भी इसका कड़ा जवाब दिया। भारतीय जवान इस दौरान सीमा पर पूरी सतर्कता बरते हुए थे। पाकिस्तानी सैनिक दरअसल ये गोलाबादी घुसपैठ के इरादे से कर रहे थे। भारतीय जवानों द्वारा की जा रही जवाबी गोलाबारी में अपने मकसद को कामयाब न होते देख पाकिस्तानी सैनिकों ने रात 12 बजे के करीब मेंढर के मनकोट इलाके में भी गोलाबारी शुरू कर दी।

इस गोलाबारी की आड़ में पाकिस्तान की ओर से करीब सात घुसपैठियों ने लंग्योट सेक्टर से भारतीय सीमा में घुसपैठ करने का प्रयास किया। भारतीय जवान पहले से ही सतर्कता बरते हुए थे। इससे पहले की घुसपैठिए फेसिंग को लांघ भारतीय सीमा में प्रवेश करते भारतीय जवानों ने तीन घुसपैठियों को फेंसिंग के उस पर ही मार गिराया। घुसपैठियों की संख्या सात के करीब बताई जा रही है जबकि तीन साथियों के मारे जाने के बाद चार घुसपैठिए वापस पाकिस्तान सीमा में भाग गए। सूत्रों का कहना है कि तीनों घुसपैठियों के शव अभी भी फेसिंग के पास पड़े हुए हैं। सेना ने अभी तक इन घुसपैठियों के मारे जाने की अधिकारिक पुष्टि नहीं की है।

यह भी अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मारे गए तीनों घुसपैठिए आतंकवादी थे या पाकिस्तानी सेना के बैट टीम के कमांडो।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस