पुंछ, जागरण संवाददाता। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भारत व पाक के बीच हो रहे व्यापार पर अनिश्चितकाल के लिए रोक लगा दी है, लेकिन दोनों देशों के बीच चलने वाली साप्ताहिक बस सेवा सोमवार को चली और इस बस सेवा के माध्यम से 28 गुलाम कश्मीर के नागरिक आर-पार हुए।

सोमवार को राह-ए-मिलन बस सेवा के लिए भारत व पाक सेनाओं ने अपने-अपने क्षेत्र के गेट खोले। इस दौरान गुलाम कश्मीर के 23 नागरिक अपने करीबी रिश्तेदारों से मिलने के लिए पुंछ पहुंचे और पांच नागरिक जो अपने करीबी रिश्तेदारों से मिलने के लिए भारत में आए थे, वे वापस अपने घरों को लौट गए। 20 जून 2006 को इस बस सेवा को शुरू किया गया था, ताकि सीमा के आर-पार रहने वाले लोग जो बिछड़ चुके थे, वे मिल सकें। यह बस सेवा सप्ताह में एक दिन यानी सोमवार को चलती है।

इसके बाद 2008 में दोनों देशों के बीच व्यापार शुरू किया गया। व्यापार पहले सप्ताह में एक दिन होता था, लेकिन दोनों तरफ के व्यापारियों की मांग को देखते हुए इसे सप्ताह में चार दिन कर दिया गया। मंगलवार से लेकर शुक्रवार तक दोनों देशों के बीच व्यापार होता था, लेकिन चंद रोज पहले गृह मंत्रालय ने व्यापार को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया। क्योंकि हथियारों, नशीले पदार्थो और नकली मुद्रा की तस्करी करने की बात सामने आ रही थी। लेकिन बस सेवा अभी भी बहाल है और सीमा के आर-पार रहने वाले लोग चाहते हैं कि यह बस सेवा इसी तरह से चलती रहे, ताकि जो परिवार बिछड़ चुके हैं, वे मिलते रहें। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप