जम्मू, जेएनएन। उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा के लंगेट में सीआरपीएफ शिविर पर 10 दिन पहले ग्रेनेड से हमला करने के मामले में संलिप्त लश्कर-ए-तैयबा के तीन ओवरग्राउंड वर्कर को पुलिस ने गिरफ्तार करने का दावा किया है।

लंगेट में गत 16 अगस्त को सीआरपीएफ के शिविर पर आतंकी ग्रेनेड से हमला कर फरार हो गए थे। हालांकि इसके उपनरांत पुलिस व सुरक्षाबलों ने संयुक्त रूप से तलाशी अभियान भी छेड़ा था लेकिन काफी मशक्कत के बाद आज लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित तीनों ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनकी पहचान इशफाक अहमद डार, जमशेद अहमद शाह और जावेद अहमद खान के रूप में हुई है। पुलिस इन तीनों से कड़ी पूछताछ कर रही है और संभावना है कि इस मामले में अन्य गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं। 

इसी बीच आज किश्तवाड़ के छातरु इलाके से पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के जवानों ने संयुक्त तलाशी अभियान के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है। पकड़े गए हिजबुल मुजाहिदीन के दोनों आतंकियों के खिलाफ छातरू पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया गया है। हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन से संबंधित दोनों आतंकी स्थानीय हैं और वे लगातार अनंतनाग जिला में सक्रिय हिजबुल के शीर्ष आतंकियों के सम्पर्क में थे।

Edited By: Vikas Abrol