पुंछ, जेएनएन। जिला पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे कृष्णा घाटी सेक्टर में एक ऑपरेशन के दौरान हुए बारूदी सुरंग विस्फोट में सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि एक अन्य घायल हो गया। घायल को उपजिला अस्पताल मेंढर में भर्ती कराया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गत शुक्रवार देर रात को जब सेना के जवान नियंत्रण रेखा के पास गश्त लगा रहे थे, तभी ये दो जवान बारूदी सुरंग के चपेट में आ गए। विस्फोट के बाद दोनों जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। साथी जवानों ने तुरंत दोनों को उपजिला अस्पताल मेंढर पहुंचाया परंतु डॉक्टरों ने एक जवान को शहीद करार दे दिया। शहादत पाने वाले जवान की पहचान सिपाही कृष्णा वैद्या के रूप मेंं हुई है। वह सेना की 16 कोर में कार्यरत था। आज मेंढर उपजिला अस्पताल में पोस्टमार्टम होने के बाद जवान के पार्थिव शरीर को उसकी बटालियन को सौंप दिया जाएगा।

वहीं घायल जवान की हालत अभी स्थिर बताई जा रही है। आपको बता दें कि नियंत्रण रेखा पर भले ही पाकिस्तान की ओर से अकारण गोलीबारी का सिलसिला थम गया है परंतु जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए अभी भी सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ कराई जा रही है। 27 जून को आतंकवादियों द्वारा जम्मू में एयरफोर्स स्टेशन पर किए गए ड्रोन हमले और गत शुक्रवार को अखनूर के कानाचक्क सेक्टर में 5 किलो आइईडी के साथ पकड़े गए ड्रोन के बाद सेना व पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठनों के सरगना 5 अगस्त जिस दिन जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त कर इसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया और 15 अगस्त जिस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इन दोनों तारीखों के बीच आतंकवादी जम्मू-कश्मीर के किसी भी हिस्से में बड़ा हमला कर सकते हैं।  

Edited By: Rahul Sharma