जागरण संवाददाता, जम्मू: जम्मू कश्मीर पुलिस में तैनात वर्ष 1996 बैच के तीन आइपीएस अधिकारियों को पदोन्नत कर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) बना गया गया। वहीं, वर्ष 2007 बैच के चार आइपीएस अधिकारियों को डीआइजी बना दिया गया गया। इसके अलावा वर्ष 2017 बैच के आइपीएस अधिकारियों को पदोन्नत कर एसएसपी बनाया गया है। जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा गठित विभागीय पदोन्नति कमेटी से मंजूरी मिलने के बाद इन्हें पदोन्नत किया गया है। एडीजीपी बनने वाले अधिकारियों में जम्मू जोन के आइजीपी मुकेश सिंह, क्राइम ब्रांच के आइजीपी मनीष सिन्हा और आ‌र्म्ड पुलिस जम्मू में तैनात दानिश राणा शामिल हैं। वहीं, डीआइजी बनने वालों में ऊधमपुर- रियासी रेंज के इंचार्ज डीआइजी सुजीत कुमार, जम्मू-सांबा-कठुआ रेंज के इंचार्ज डीआइजी विवेक गुप्ता, नार्थ कश्मीर में तैनात सुलेमान चौधरी और किश्तवाड़-डोडा-रामबन रेंज के इंचार्ज डीआइजी अब्दुल जब्बार को डीआइजी बनाया गया है। जम्मू कश्मीर पुलिस में डीआइजी रैंक के अधिकारियों की कमी होने के कारण पदोन्नत होने वाले इन सभी पुलिस अधिकारियों को पहले इंचार्ज डीआइजी बना दिया गया था। इसी आदेश के तहत वर्ष 2017 बैच के आइपीएस अधिकारी निखिल बोरकर, एसडीपीओ बड़ी ब्राह्मणा मोहिता शर्मा, तनुश्री और अनायत चौधरी को पदोन्नत कर एसएसपी बना दिया गया है। इन्हें दोन्नति का लाभ एक जनवरी 2021 से मिलेगा। पदोन्नत करने वाली कमेटी में मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम, लद्दाख के उप राज्यपाल के सलाहकार उमंग नरूला, जम्मू कश्मीर के गृह सचिव शालीन काबरा और डीजीपी दिलबाग सिंह शामिल थे। दिलबाग सिंह ने पदोन्नत होने वाले सभी पुलिस अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने उप राज्यपाल मनोज सिन्हा का जम्मू कश्मीर पुलिस की विग स्पेशल आपरेशन ग्रुप और बम निरोधक दस्ते में तैनात कर्मियों के रिस्क अलाउंस को बढ़ाने पर आभार व्यक्त किया है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप