राज्य ब्यूरो, जम्मू : प्रदेश में वीरवार को नेशनल कांफ्रेंस के एक वरिष्ठ नेता और उसके तीन अन्य परिजनों सहित कोरोना संक्रमण के 168 नए मामले दर्ज हुए हैं। इसमें देर शाम जम्मू जिले में आए 18 संक्रमित भी शामिल हैं। इसे मिलाकर अब तक जम्मू कश्मीर में 7863 मामले हो गए हैं।

अच्छी बात यह है कि 118 मरीजों के ठीक होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अब तक 4974 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार 168 नए मामले में शाम छह बजे तक जम्मू जिले में सिर्फ चार ही मरीज आए थे। यह सभी सुरक्षाबलों के जवान थे, लेकिन देर शाम आई रिपोर्ट में 14 और लोगों में पुष्टि हुई। इनमें भी चार जवान थे।

जम्मू के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने भी इसकी पुष्टि की है। वहीं, कश्मीर में आए मामलों में कुछ दिन पहले रिहा हुए नेशनल कांफ्रेंस के एक वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री, उनकी पत्नी व परिवार के दो अन्य सदस्यों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। नेकां नेता के बेटे ने ट्वीट कर इसकी पुष्टि भी की। उन्होंने लोगों से उनके परिजनों के जल्दी ठीक होने के लिए दुआ करने के लिए कहा।

वहीं, वीरवार को संक्रमित होने वालों में श्रीनगर जिले के 51 मरीज शामिल हैं। इसके साथ ही जम्मू कश्मीर में श्रीनगर पहला जिला बन गया है, जहां एक हजार से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हें। श्रीनगर जिले में अभी तक 1021 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं, बारामुला जिले में 19, कुलगाम में 15, शोपियां में एक, अनंतनाग में 17, पुलवामा में 10, बड़गाम में 12, बांडीपोरा में दो, गांदरबल में सात, जम्मू जिले में 18, ऊधमपुर में चार, रामबन में एक, सांबा में पांच व डोडा के छह मरीज शामिल हैं। इनमें 23 ट्रैवलर भी हैं।

वहीं 118 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी मिल गई। इनमें श्रीनगर के 20, बारामुला के 23, शोपियां के 28, अनंतनाग के एक, कुपवाड़ा के एक, पुलवामा के दो, बड़गाम के तीन, बांडीपोरा के एक, जम्मू के एक, ऊधमपुर के नौ, कठुआ के चार, रामबन के चार, सांबा के सात, पुंछ के आठ और रियासी के पांच मरीज शामिल हैं।

सीआइएसएफ कमांडेंट के पॉजिटिव आने पर क्लीनिक सील

राज्य ब्यूरो, जम्मू : केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल (सीआइएसएफ) के कमांडेंट के पॉजिटिव आने के बाद वीरवार को स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीमों ने कई जगहों का निरीक्षण किया। इस दौरान छन्नी हिम्मत में स्थित एक डॉक्टर के क्लीनिक को सील कर दिया गया।

इसी क्लीनिक में इस कमांडेंट ने अपनी जांच करवाई थी। इसके अलावा छन्नी स्थित एक अन्य निजी अस्पताल में भी टीम ने पूरी तरह से सैनिटाइज करने के लिए कहा। टीम उस होटल में भी गई, जहां संक्रमित हुए कमांडेंट रुके थे। इस दौरान टीम ने कुछ डॉक्टरों सहित अन्य कर्मचारियों को घरों में ही क्वारंटाइन होने के लिए कहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस