मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

 राज्य ब्यूरो, श्रीनगर।  सेना की 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने बुधवार को वादी में 2019 में अब तक 69 आतंकियों के मारे जाने का दावा करते हुए कहा कि जैश-ए-मुहम्मद का नेटवर्क लगभग तबाह हो चुका है।

कश्मीर में इस समय कोई आतंकी कमांडर जैश की कमान संभालने के लिए सामने नहीं आ रहा है। आतंकवाद के समूल नाश तक आतंकरोधी अभियान जारी रखने का यकीन दिलाते हुए उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद को फिर से सिर नहीं उठाने देंगे।

ढिल्लो श्रीनगर में पुलिस नियंत्रण कक्ष में एक पाकिस्तानी आतंकी मोहम्मद वकार को मीडिया के समक्ष पेश करने के बाद राज्य पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह और आइजी सीआरपीएफ जुल्फिकार हसन की मौजूदगी में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। आतंकी मोहम्मद वकार उर्फ वकार उर्फ आकिब उर्फ छोटा दुजाना को दो दिन पहले मीरगुंड, पट्टन के इलाके में पकड़ा गया था। वह पाकिस्तान में मियां, मियांवाली पंजाब प्रांत का रहने वाला है और 2017 से उत्तरी कश्मीर में सक्रिय था।

केजेएस ढिल्लों ने बताया कि इस साल अब तक वादी में 69 आतंकी मारे गए हैं और 12 आतंकियों को पकड़ा गया है। इनमें 41 आतंकी पुलवामा हमले के बाद चले सैन्य अभियानों में मारे गए हैं। इनमें 25 आतंकी जैश ए मुहम्मद के थे और इनमें 13 पाकिस्तान के रहने वाले थे।

कोर कमांडर ने कहा कि इस समय कश्मीर में जैश का लगभग सफाया किया जा चुका है। जैश के अधिकांश ओवरग्राऊंड वर्कर भी पकड़े जा चुके हैं। इस समय स्थिति यह है पाकिस्तान बैठे आतंकी सरगनाओं और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ की तमाम कोशिशों के बावजूद जैश की कमान संभालने के लिए वादी में कोई आतंकी कमांडर सामने नहीं आ रहा है। हम जैश समेत सभी आतंकी संगठनों को पूरी तरह समाप्त करने के अभियान जारी रखेंगे।

 हालात पहले से बेहतर

 वादी के हालात को पहले से बेहतर बताते हुए कोर कमांडर ढिल्लों ने कहा कि इस समय सिर्फ जैश ही नहीं अन्य आतंकी संगठनों के भी सभी प्रमुख कमांडर मारे जा चुके हैं। अपने कैडर को बचाने और लोगों में डर पैदा करने के लिए आतंकी कुछ सनसनीखेज वारदातों को अंजाम देने और आम लोगों को निशाना बनाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हम उनके इरादों को कामयाब नहीं होने दे रहे हैं।

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप