जम्मू, जेएनएन : कश्मीर में आने वाले दिनों में हिमपात से निपटने के लिए प्रशासन की ओर से अभी से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाने लगा है। हिमपात के उपरांत लोगों को असुविधा न हो इसके लिए हेल्पलाइन और नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जाएंगे। गत 3 नवंबर को हुए हिमपात से कश्मीर के कई जिलों में कृषि, बागवानी फसलों और कृषि के बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा था। इससे बिजली, सड़क संपर्क सहित अन्य आवश्यक सेवाओं भी काफी प्रभावित हुई थी।

राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने हिमपात से प्रभावित सेवाओं की बहाली के प्रयासों की स्वयं निगरानी करने के अलावा मुख्य सचिव व सलाहकारों से फीडबैक हासिल कर दिशा निर्देश जारी किए हैं कि कश्मीर में हिमपात के दौरान सभी आवश्यक सेवाओं को पूरी तरह से बहाल करने के लिए सभी संबंधित विभाग एकजुट होकर काम करें ताकि आम लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

प्रशासन की पहली प्राथमिकता है कि हिमपात के उपरांत भी कश्मीर में 24 घंटे बिजली और पानी की आपूर्ति में कोई विघ्न न पड़े। इसके अलावा सड़क मार्ग को भी 24 घंटे यातायात बहाली के लिए दुरुस्त रखने के दिशा निर्देश दिए गए हैं।

 

Posted By: Rahul Sharma