राज्य ब्यूरो, जम्मू : पाकिस्तानी सैनिकों ने शनिवार को लगातार दूसरे दिन नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए अखनूर के पलांवाला से लेकर राजौरी तक भारत के अग्रिम सैन्य ठिकानों पर गोलाबारी की। इसमें एक सैन्यकर्मी शहीद और बीएसएफ के दो जवान घायल हो गए। भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान का एक निगरानी मोर्चा तबाह होने के साथ एक या दो पाकिस्तानी सैनिकों के जख्मी या मारे जाने की आशंका है। देर रात गए दोनों तरफ से रुक रुककर गोलाबारी जारी रही। शहीद की पहचान 21 वर्षीय राइफलमैन वरुण कटल पुत्र अंचल सिंह निवासी गांव मावा, तहसील राजपुरा, जिला सांबा (जम्मू) के रूप में हुई है। शहीद का गांव भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ सटा हुआ है। वहीं घायलों की पहचान सीमा सुरक्षा बल की 126वीं बटालियन के दशरत मांझी व मुर्शीद आलम के रूप में हुई है।

जानकारी के अनुसार, सुबह करीब पौने दस बजे पाकिस्तानी सैनिकों ने पलांवाला सेक्टर के अंतर्गत केरी इलाके में एक अग्रिम मोर्चे की तरफ जा रहे भारतीय सैन्य के गश्ती दल को निशाना बनाते हुए स्नाइपर फायर किया। इसमें राइफलमैन वरुण काटल गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें उनके साथियों ने तुरंत निकटवर्ती सैन्य अस्पताल पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए जवाबी फायर किया। इसके बाद दोनों तरफ से एक दूसरे के ठिकानों तक करीब एक घंटे तक ताबड़तोड़ गोलीबारी हुई। हालांकि सैन्याधिकारियों ने जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सैनिकों को पहुंचे नुकसान की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की है, लेकिन सूत्रों की मानें तो अपने साथी की शहादत से गुस्साए जवानों ने जवाबी फायर करते हुए पाकिस्तानी सेना के एक निगरानी मोर्चे को नुकसान पहुंचाया है। इस बीच, घायल जवान ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

केरी सेक्टर में दोपहर डेढ़ बजे के करीब स्थित लगभग शांत हो गई, लेकिन करीब छह घंटे बाद राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर के मल्ला क्षेत्र में पाकिस्तानी सैनिकों ने एक बार फिर अग्रिम भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी शुरू कर की। इसमें दो बीएसएफ कर्मी घायल हो गए। घायल जवानों को उपचार के लिए निकटवर्ती अस्पताल में दाखिल कराते हुए उनके अन्य साथियों ने पाकिस्तानी ठिकानों पर जवाबी गोलाबारी की। सूत्रों ने बताया कि देर रात तक दोनों तरफ से एक दूसरे ठिकानों पर मोर्टार और मध्यम दर्जे के हथियारों से गोलाबारी जारी थी। दुश्मन को मुहंतोड़ जवाब देने के निर्देश :

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने केरी सेक्टर में राइफलमैन वरुण काटल की शहादत की पुष्टि करते हुए बताया कि जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना को भी नुकसान उठाना पड़ा है। उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्रालय ने सभी फील्ड कमांडरों को दुश्मन की हर हरकत का मुहंतोड़ जवाब देने का निर्देश दिया है। सभी अग्रिम इलाकों में चौकसी को बढ़ा दिया गया है। इस बीच, एक वरिष्ठ सैन्याधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सेना जम्मू संभाग में सरहदी इलाकों में तनाव बढ़ाने और आतंकियों की घुसपैठ को सुरक्षित बनाने के इरादे से भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी कर रही है, लेकिन उसकी हर हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। पाक ने पांच दिन में चार बार स्नाइपर शॉट दागे :

पाकिस्तानी सैनिकों ने एलओसी पर पिछले पांच दिन में स्नाइपर शाट से चार हमले किए। पाक ने नौ नवंबर, शुक्रवार को अखनूर के परगवाल सेक्टर और राजौरी के तरकुंडी सेक्टर में स्नाइपर शॉट दागे थे, जिसमें सेना के एक पोर्टर की मौत और एक जवान घायल हो गया था। इससे पहले दिवाली से एक दिन पहले छह नवंबर को भी पाकिस्तान ने राजौरी में स्नाइपर शाट दागा था, जिसमें एक जवान घायल हो गया था।

Posted By: Jagran