जम्मू, जागरण संवाददाता। अमरनाथ यात्रा के लिए 3,048 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था शनिवार को जम्मू से घाटी के लिए रवाना हुआ। पुलिस ने बताया कि 112 वाहनों में सवार ये तीर्थयात्री भगवती नगर यात्री निवास से बालटाल और पहलगाम आधार शिविरों की ओर रवाना हुए।

28 जून को शुरू हुई यह तीर्थयात्रा 26 अगस्त को समाप्त होगी। श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के एक अधिकारी ने बताया कि अब तक 1,65,000 तीर्थयात्रियों ने बर्फानी बाबा के दर्शन किए हैं। 

बारिश के बावजूद करंट रजिस्ट्रेशन को उमड़े श्रद्धालु 

भगवान शिव के भक्त हर हाल में उनके दर्शन करना चाहते हैं। यही वजह है कि खराब मौसम के बावजूद हजारों की संख्या में देश के कोने-कोने से जम्मू पहुंच रहे गैर पंजीकृत श्रद्धालु करंट रजिस्ट्रेशन करवा यात्रा को रवाना हो रहे हैं।

शुक्रवार को बारिश के बीच घंटों कतारों में खड़े होकर 2239 श्रद्धालुओं ने यात्रा के लिए पंजीकरण करवाया। लगभग दो हजार श्रद्धालुओं ने ही अगले दिन पंजीकरण करवाने के लिये संगम बैंक्वेट हाल से एडवांस टोकन हासिल किया।

वैष्णवी धाम में श्रद्धालुओं के पंजीकरण के लिये टैंक लगाये गये थे परंतु बारिश के कारण उनसे पानी टपक रहा था। इसकी परवाह किये बिना बड़े उत्साह के साथ श्रद्धालुओं ने यात्रा के लिये पंजीकरण करवाया। यहां 650 श्रद्धालुओं का पंजीकरण हुआ। बालटाल मार्ग से 195 जबकि 455 श्रद्धालुओं ने पहलगाम मार्ग से पंजीकरण करवाया। इनमें 531 पुरुष, 118 महिला श्रद्धालु जबकि एक बच्चा शामिल है।

इसी तरह सरस्वती धाम में 666 श्रद्धालुओं ने यात्रा पंजीकरण करवाया। बालटाल मार्ग से 175 श्रद्धालुओं ने जबकि पहलगाम मार्ग से यात्रा करने के लिये 491 श्रद्धालुओं ने यात्रा पंजीकरण करवाया। इनमें 497 पुरुष, 160 महिलाएं जबकि 9 बच्चे शामिल हैं।

महाजन हाल में भी पंजीकरण करवाने वालों की लंबी कतारें लगी रही। बारिश होने के कारण श्रद्धालुओं को हाल ही में ही कतारबद्ध बैठाया गया था। यहां 923 श्रद्धालुओं का यात्रा पंजीकरण हुआ। बालटाल मार्ग से 435 श्रद्धालुओं ने पंजीकरण करवाया जिनमें 315 पुरुष, 120 महिला श्रद्धालु शामिल हैं।

वहीं पहलगाम मार्ग यात्रा करने की इच्छा रखने वाले 488 श्रद्धालुओं ने पंजीकरण करवाया। इनमें 400 पुरुष, 81 महिलाएं जबकि 7 बच्चे शामिल हैं। इसके अलावा संगम बैंक्वेट हाल में करीब 2200 श्रद्धालुओं में एडवांस टोकन वितरित किए गए। 

By Preeti jha