जम्मू, राज्य ब्यूरो। प्रदेश भाजपा ने कहा कि कश्मीर में सईद सलाहुद्दीन, यासीन मलिक पैदा होने के महूबबा मुफ्ती के बयान कश्मीर की दोगली राजनीति का हिस्सा है। कुर्सी जाते ही देश के खिलाफ बयानबाजी शुरू कर देना कश्मीर केंद्रित पार्टियों की राजनीति का हिस्सा है।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व एमएलसी अशोक खजूरिया ने कहा कि जो हिंदोस्तान के खिलाफ बोलेगा, उसे नही बख्शेंगे। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। ऐसी बयानबाजी बर्दाश्त नहीं होगी। ठीक इसी तरह कुर्सी जाने के बाद फारूक अब्दुल्ला भी देश के खिलाफ मोर्चा खोल देते थे। 

एमएलसी रमेश अरोड़ा, सुरेन्द्र अंबरदार, जीएल रैना व विधायक प्रिया सेठी भी मौजूद थी। केंद्र सरकार पर भाजपा को तोड़ने की कोशिशें करने संबंधी महबूबा के बयान पर सांसद शमशेर ने कहा कि ऐसी बयानबाजी कुर्सी जाने के बाद की हताशा का परिणाम है। भाजपा बांटने की राजनीति में विश्वास नहीं रखती है।

कश्मीर के नब्बे प्रतिशत लोग शांति चाहते हैं व वे हालात खराब करने की कोशिशें करने वालों का अपना दुश्मन मानते हैं। इससे पहले भाजपा सांसद ने कहा कि भाजपा ने तीन सालों के दौरान राज्य में विकास को बढ़ावा देने के लिए व्यापक कदम उठाए।

उन्होंने स्पष्ट किया कि भाजपा ने लोगों के फैसले का सम्मान करते हुए पीडीपी के साथ सरकार बनाई थी। लोगों की खातिर पार्टी ने कुर्सी छोड़ दी। वहीं अशोक खजूरिया ने कहा कि भाजपा-पीडीपी सरकार मजबूरियों की सरकार थी, इस सरकार को गिराकर स्पष्ट संदेश दिए गया कि सत्ता नहीं सिद्धांत भाजपा के लिए अहम हैं। 

Posted By: Preeti jha