जागरण संवाददाता, जम्मू : हर-हर महादेव, जय शिव शंकर के जयकारों के बीच मंगलवार को शहर के प्राचीन रणवीरेश्वर मंदिर से पारंपरिक छड़ी मुबारक यात्रा पुरमंडल के लिए रवाना हुई। यात्रा रवाना करने से पूर्व डोगरा सदन सभा के प्रधान ठाकुर गुलचैन सिंह चाढ़क, महंत ऋषिबन सहित अन्य साधु-संतों ने रणवीरेश्वर मंदिर, रघुनाथ मंदिर और लक्ष्मी नारायण मंदिर में चैत्र चौदश की छड़ी की विधिवत पूजा-अर्चना की।

रणवीरेश्वर मंदिर से सुबह तड़के शुरू हुई छड़ी यात्रा महंत ऋषिबन सहित अन्य साधुओं के नेतृत्व में सिटी चौक से होकर रघुनाथ मंदिर पहुंची, जहां विधिपूर्वक पूजा अर्चना करने के बाद छड़ी को गांधी नगर स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर भी लाया गया। यहां से सैकड़ों श्रद्धालुओं के साथ छड़ी मुबारक पुरमंडल स्थित ऐतिहासिक शिव मंदिर के लिए रवाना हो गई।

छड़ी यात्रा में श्रद्धालुओं के अलावा डोगरा सदर सभा के कार्यकर्ता व सदस्य भी मौजूद थे। पुरमंडल पहुंचने पर श्रद्धालुओं ने छड़ी का भव्य स्वागत किया। चैत्र चौदश के अवसर पर पुरमंडल में दो दिवसीय मेले का भी शुभारंभ हुआ। देविका नदी में स्नान करने के लिए स्थानीय व पड़ोसी राज्यों से भी काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे हुए थे। श्रद्धालुओं ने देविका नदी में स्नान करने के बाद ऐतिहासिक शिव मंदिर में भगवान के दर्शन किए। महंत ऋषिबन ने बताया कि नीलमत पुराण के अनुसार देविका नदी में स्नान करने से श्रद्धालु को वही पुण्य प्राप्त होते हैं, जो गंगा में स्नान करने से मिलता है। उन्होंने श्रद्धालुओं को चैत्र-चौदश की शुभकामनाएं भी दी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर