राज्य ब्यूरो, जम्मू :

डोमिसाइल नियम बनने के बाद अब जम्मू कश्मीर में नौकरियों की बहार लाने की तैयारी है। प्रशासन ने जम्मू कश्मीर में जल्द दस हजार नौकरियां निकालने का फैसला किया है। डॉक्टरों, वेटनरी, पंचायत एकाउंट्स असिस्टेंट के पदों समेत चतुर्थ श्रेणी के पद भी भरे जाएंगे। जम्मू कश्मीर के डोमिसाइल ही इन पदों के लिए आवेदन कर पाएंगे। उप राज्यपाल जीसी मुर्मू ने विभिन्न स्तर पर नौकरियों की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए शुक्रवार को आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में कहा कि पद भरने की प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाया जाएगा।

एक्सलीरेटेड रिक्रूटमेंट कमेटी ने अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट उपराज्यपाल को सौंप दी है, जिसमें दस हजार पदों को भरने का प्रस्ताव दिया गया है। कमेटी ने यह काम दस दिन से कम समय में किया है। इस भर्ती प्रक्रिया का अहम पहलू यह होगा कि चतुर्थ श्रेणी के पदों में जिन महिलाओं के पतियों का निधन हो गया है (निराश्रित, तलाकशुदा महिलाओं, अकेली महिलाओं और जिन परिवारों का कोई सदस्य सरकारी नौकरी में नहीं है) को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए आवेदन करने के समय स्वयं प्रमाणित शपथपत्र देना होगा। चयन होने और नौकरी ज्वाइंन करने के समय उस शपथपत्र को संबंधित एसडीएम प्रमाणित करेंगे। आवेदन करने के समय डोमिसाइल प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं होगी। जब उम्मीदवार का चयन हो जाएगा तब ही डोमिसाइल प्रमाणपत्र की जरूरत महसूस होगी। दूरदराज जिलों के उम्मीदवारों को मिलेगा लाभ :

उप राज्यपाल ने कहा कि दूरदराज के जिलों के लोगों को नौकरियों में पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिया जाना चाहिए। फैसला किया गया कि जिला कैडर के पदों के लिए दूर दराज के जिलों के उम्मीदवारों को अतिरिक्त अंक दिए जाएंगे। डिवीजनल स्तर के पदों में भी विशेष डिवीजन के उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाएगी। वहीं केंद्र शासित प्रदेश स्तर के पदों में निष्पक्ष, स्वतंत्र और ओपन में प्रतिस्पर्धा होगी। इस तरह के प्रबंधों का आरक्षण नियमों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। जब नौकरियों के लिए आवेदन निकाला जाएगा, तो डेलीवेजरों और कांट्रेंक्चयुल लेबरों को न्यूनतम सेवा के हिसाब से कुछ रियायत दी जाएगी। पहले चरण के लिए जल्द अधिसूचना जारी होगी :

एक्सलीरेटेड रिक्रूटमेंट कमेटी के चेयरमैन नवीन कुमार चौधरी ने बताया कि विभागों ने 11 हजार चतुर्थ श्रेणी के पदों को भरने की जानकारी सौंपी है। भर्ती नियमों के हिसाब से व्यापक जांच की गई है और 19 विभागों में 7 हजार पदों को चिन्हित किया गया है। पहले चरण के लिए जल्द ही अधिसूचना जारी होगी। पद भरने की प्रक्रिया जून में शुरू की जाए :

पंचायत एकाउंट्स असिस्टेंट के दो हजार पद, डॉक्टरों के एक हजार से अधिक पद, वेटनरी के एक सौ पदों के लिए चयन जल्द होगा। उपराज्यपाल ने निर्देश दिया कि दस हजार के करीब पदों को भरने की प्रक्रिया जून में शुरू कर दी जाए। इसका सीधा व स्पष्ट संकेत जाएगा कि सरकार बेरोजगारी की समस्या से निपटने के लिए गंभीर है। इसके अलावा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग में तीन हजार पदों को भी भरा जाएगा, क्योंकि कोरोना के समय में यह स्वास्थ्य का ढांचा मजबूत करना जरूरी है। उन्होंने जम्मू कश्मीर पब्लिक सर्विस कमीशन और जम्मू कश्मीर सर्विस सिलेक्शन बोर्ड को निर्देश दिए है कि पद भरने के लिए पर्याप्त ढांचा और मानव संसाधन उपलब्ध हो ताकि देरी न हो जाए। राजनीतिक पार्टियों ने बनाया था नौकरियों का मुद्दा :

पूर्व जम्मू कश्मीर में पचास हजार पदों को भरने की घोषणा पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने की थी। उसके बाद विभिन्न राजनीतिक पार्टियों ने इसे मुद्दा बना लिया और समय-समय पर पचास हजार पद भरने की मांग करने लगे। डोमिसाइल नियमों के अधिसूचित हो जाने के बाद नौकरियों का रास्ता साफ हो गया। अब हर नौकरी के लिए डोमिसाइल प्रमाणपत्र आवश्यक किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस