टोक्यो, एएनआइ। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह को लगता है कि टोक्यो ओलंपिक में स्पेन के खिलाफ  मैच चुनौतीपूर्ण होगा, लेकिन टीम मैच के लिए तैयार है। विश्व नंबर 1 टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1-7 की हार के बाद, भारतीय पुरुष हॉकी टीम मंगलवार को ओआई हॉकी स्टेडियम में टोक्यो ओलंपिक 2020 के अपने तीसरे मैच में स्पेन से भिड़ेगी। टीम की उम्मीद मैच जीतकर वापसी करने की होगी।

स्पेन के खिलाफ मैच से पहले मनप्रीत ने कहा, ' जैसा कि मैंने पहले कहा, हम एक बार में एक मैच के बार में सोच रहे हैं और हमें इस तरह के मंच पर हर दिन सुधार करते रहने की जरूरत है। स्पेन भी एक बहुत अच्छी टीम है और निश्चित रूप से यह हमारे लिए एक चुनौतीपूर्ण मैच होने जा रहा है, लेकिन हम इसके लिए तैयार हैं। हमें बस इतना ध्यान रखना है कि चीजों को सरल रखना है और अपनी ताकत के हिसाब से खेलना है।'

दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार

ओलंपिक खेलों में 41 साल के पदक के सूखे को खत्म करने के उद्देश्य से, भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड को 3-2 से हराकर जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की। हालांकि, विश्व की चौथे नंबर की टीम जीत का फायदा नहीं उठा सकी और अपने दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार गई।

शुरुआती मौकों को गोल में बदल दिया होता तो कहानी कुछ और होती

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार को लेकर मनप्रीत सिंह ने कहा, 'हम जानते थे कि यह हमारे लिए सबसे कठिन मैच होगा और मुझे लगता है कि हम पिछड़ गए।  अगर हमने शुरुआती मौकों को गोल में बदल दिया होता तो कहानी कुछ और होती।मुझे लगता है कि मैच के शुरुआती दौर में मौके को भुनाना बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लेकिन अंत में आपको अपने विरोधियों का सम्मान करना चाहिए, जिन्होंने उस दिन बेहतर हॉकी खेली।'

Edited By: Tanisk