जकार्ता। भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल शनिवार को खत्म हो रहे 18वें एशियन गेम्स के क्लोजिंग सेरेमनी में भारत की ध्वजवाहक होंगी। भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने कहा कि शनिवार को एशियन गेम्स के समापन समारोह में रानी भारत की ध्वजवाहक होंगी। बत्रा एफआइएच के भी हेड हैं। इससे पहले एशिनय गेम्स के ओपनिंग सेरेमनी में भारत के जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने अपने दल की अगुआई की थी और ध्वजवाहक थे। नीरज ने एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है। 

रानी रामपाल की अगुआई में भारतीय महिला हॉकी टीम ने सिल्वर मेडल जीता। फाइनल मुकाबले में भारत को जापान के हाथों 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। 23 वर्षीय रानी फाइनल में हार के बाद उदास दिखीं थी लेकिन वर्ष 2014 इंचियोन एशियन गेम्स में भारतीय महिला हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। इस बार टीम ने सिल्वर अपने नाम किया। 

भारतीय टीम के ज्यादातर यानी 550 से ज्यादा एथलीट स्वदेश वापस आ चुके हैं। अंत में जो खिलाड़ी बचते हैं उन्हीं में से क्लोजिंग सेरेमनी के लिए ध्वजवाहक का चुनाव किया जाता है। 

Posted By: Sanjay Savern