भुवनेश्वर, जेएनएन : चीन की टीम  कलिंगा मैदान पर खेले गए हॉकी विश्व कप में प्रभावित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। उसने विश्व कप में अपना पदार्पण मैच खेलते हुए इंग्लैंड को 2-2 की बराबरी पर रोका था और अब मंगलवार को विश्व रैंकिंग में 10वें नंबर पर काबिज आयरलैंड की टीम को भी जीत हासिल नहीं करने दी।

चीन और आयरलैंड के बीच पूल-बी का दिन का दूसरा मैच 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ। चीन के लिए जिन गुओ (43वें मिनट) ने और आयरलैंड के लिए एलन सर्थन (44वें मिनट) ने गोल दागे।पहले क्वार्टर में सातवें मिनट में चीन के हमले के कारण आयरलैंड को गोलकीपर डेविड हार्ट को गोलपोस्ट छोड़कर सामने आना पड़ा। इससे वह चीन के खिलाड़ी को रोकने में सफल रहे।

यह चीन का इस क्वार्टर का सबसे करीबी मौका था, लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा सका। वहीं, आयरलैंड के लिए पहले क्वार्टर के अंत में मैथ्यू नेल्सन ने कुछ अच्छे मौके बनाए, लेकिन वह गेंद को निशाने पर नहीं पहुंचा सके। दूसरे क्वार्टर में चीन ने आयरलैंड को ज्यादा मौके नहीं दिए। 19वें मिनट में आयरलैंड को पेनाल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन चीन के गोलकीपर काइयू वांग ने अच्छा बचाव किया।

चीन के गोउ 26वें मिनट में गेंद लेकर आयरलैंड की डी में गए, लेकिन उसे गोल में नहीं पहुंचा सके। तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में ही 31वें मिनट में चीन को पेनाल्टी कॉर्नर मिला, जो विफल रहा। मैच का पहला गोल चीन की ओर से ही हुआ। 43वें मिनट में उसके लिए पेनाल्टी कॉर्नर पर जिन गुओ ने यह गोल किया। चीन ने 1-0 की बढ़त ली ही थी कि अगले ही मिनट आयरलैंड के एलन सर्थन ने शानदार मैदानी गोल दागकर आयरलैंड को 1-1 की बराबरी दिलाई। चीन को इस क्वार्टर के आखिरी मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर के जरिये गोल करने का मौका मिला। 

गोल करने की जिम्मेदारी टालाके डु पर थी जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पिछले मैच में अपनी टीम को अंतिम मिनटों में गोल दागकर बराबरी दिलाई थी। हालांकि, इस बार टालाके गोल करने में सफल नहीं हो सके।चौथे और आखिरी क्वार्टर में 50वें और 52वें मिनट में आयरलैंड के खिलाडि़यों को दो मौके मिले, लेकिन दोनों ही मौकों पर उसके खिलाड़ी गेंद पर नियंत्रण नहीं रख पाए। चीन ने भी 54वें मिनट में गोल करने का मौका गंवा दिया। 

इस ड्रॉ के साथ पूल-बी से ऑस्ट्रेलिया का सीधे क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का रास्ता साफ हो गया। ऑस्ट्रेलिया के दो मैचों में दो जीत के साथ छह अंक हैं। चीन ने दो मैच खेले हैं और उसके दोनों मैच ड्रॉ रहे। इस तरह वह पूल-बी में दो अंकों के साथ अंकतालिका में दूसरे नंबर पर है।

आयरलैंड का दो मैचों में यह पहला ड्रॉ है। उसे अपने पिछले मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था। इस तरह आयरलैंड का दो मैचों में सिर्फ एक अंक है और वह तीसरे स्थान पर है। इंग्लैंड की टीम के भी दो मैचों में एक ड्रॉ से एक अंक हैं, लेकिन वह चौथे पायदान पर है।

Posted By: Lakshya Sharma