संवाद सहयोगी, ऊना : हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ जिला ऊना ने कहा है कि छठे वेतन की अधिसूचना के बाद शिक्षकों को इसकी त्रुटियों से नुकसान उठाना पड़ रहा है। शनिवार को जारी बयान में संघ के जिलाध्यक्ष डा. किशोरी लाल शर्मा व समस्त कार्यकारिणी सदस्यों ने कहा संयुक्त बयान जारी कर कहा छठे वेतन आयोग की अधिसूचना तीन जनवरी को जारी की गई है। यह वेतन 16 साल बाद प्रदेश में कर्मचारियों को दिया जा रहा है। संघ तथ्यों सहित सरकार और वित्त विभाग के कारनामे को उजागर करेगा।

इससे पहले 2006 का वेतन आयोग 2009 में लागू किया गया था जिसमें रूल 2009 के तहत जो प्रविधान 2009 में पांचवें आयोग में किए गए थे, बाद में 1-10-2012 को कुछ खामियों के कारण उस वेतन आयोग में कुछ संशोधन किए गए थे जिससे बहुत से कर्मचारियों व शिक्षकों का ग्रेड पे बढ़ा था। लेकिन उस संशोधन में हिमाचल सरकार ने पंजाब सरकार के संशोधन को पीछे छोड़कर अपना नया पैरामीटर तय किया था। अन्य विसंगतियों सहित इसका खामियाजा छठे वेतन आयोग में आज प्रदेश के ढाई लाख कर्मचारियों को भुगतना पड़ रहा है। हालांकि संघ ने उस वक्त इन दोनों चीजों का कड़ा विरोध किया था। कई बार आंदोलन भी किया। सरकारों से आग्रह करते रहे कि दिनांक 26-2- 2013 और दिनांक 7-7-2014 की इन दोनों अधिसूचनाओ को हिमाचल सरकार निरस्त करें।

देश के अंदर हिमाचल पहला ऐसा राज्य बन गया है जो अपने शिक्षकों व कर्मचारियों को सबसे कम वेतनमान दे रहा है। केंद्र सरकार की तरफ से केंद्रीय विद्यालय के शिक्षकों को इस वेतनमान पर 24 प्रतिशत एचआरए, 31 प्रतिशत डीए और अन्य भत्ते भी दिए जा रहे हैं। पंजाब में भी 10 से 24 प्रतिशत एचआरए और 31 प्रतिशत डीए सहित अन्य भत्ते दिए जा रहे हैं लेकिन हिमाचल में अभी मात्र छठा वेतन आयोग लागू किया गया है। उसमें भी किसी तरह के भते नहीं बढ़ाए गए हैैं। 400 और 200 के रूप में एचआरए और सीसीए भत्ते दिए जाते हैं। सभी वर्गो के शिक्षकों में एक बहुत बड़ी वेतन विसंगति खड़ी हो गई है। इसलिए हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ सरकार से मांग करता है कि अभी तक पंजाब ने जो लाभ दिए हैं, उन्हें हिमाचल में भी लागू किया जाए और साथ में या तो केंद्र सरकार या फिर पंजाब द्वारा दिए गए सभी भत्ते भी शीघ्र अधिसूचित किए जाएं। संघ का शिष्टमंडल जल्द ही मांगों को लेकर मुख्यमंत्री एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त को ज्ञापन सौंपेगा।

इस अवसर पर संघ के महासचिव राजन शर्मा, वित्त सचिव अशोक कुमार, राज्य पैटर्न मनोहर लाल शर्मा, राज्य सीनियर वाइस प्रेसिडेंट संजीव ठाकुर, चीफ पैटर्न सोमलाल धीमान, पैटर्न राकेश अरोड़ा, जिला ऊना सीनियर वाइस प्रेसिडेंट विक्रम सैनी, मनीष पटियाल, प्रेस सचिव कश्मीरी सिंह, नरेश कुमार, सुरिद्र कुमार, राणा रवि, राजीव ठाकुर, सुरेश कुमार, रविदर कुमार, प्रवीण कुमार अजय कंवर और महिला विग के प्रधान तेजिदर कुमारी, अंजू शर्मा, बंदना कुमारी मौजूद रहीं।

Edited By: Jagran