मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, अम्ब : कम्युनिटी सेंटर ज्वार में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के दूसरे दिन कथावाचक अतुल कृष्ण महाराज ने श्रद्धालुओं को कई प्रसंग सुनाकर मंत्रमुग्ध किया। कहा कि धर्म का फल संसार के बंधनों से मुक्ति एवं भगवान की प्राप्ति है। जिसके मन में भगवान को प्रसन्न करने का संकल्प है उसे बार-बार श्रीमद्भागवत कथा सुननी चाहिए। श्रीहरि की भक्ति के बिना मनुष्य जन्म व्यर्थ है। इस संसार में अगर कोई वस्तु दुर्लभ है तो वह है परमात्मा श्रीकृष्ण की पावन भक्ति। हम सभी आशा के सैकड़ों बंधनों में स्वयं ही बंधे हैं। यह प्रभु की भक्ति का प्रत्यक्ष चमत्कार ही है कि भगवान अपने आश्रितों की हर इच्छा को बिन मांगे ही पूरी कर देते हैं। संसार में मनुष्य को आंसू मिलते हैं। जब की प्रभु के द्वार से खुशियां। वीरवार को कथा में भगवान कपिल का प्राकट्य, शिव-पार्वती प्रसंग, ध्रुव को भगवान की प्राप्ति एवं जड़ भरत का चरित्र सभी ने बड़ी श्रद्धा से सुना।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप