संवाद सहयोगी, चितपूर्णी : कोरोना की वैश्विक लड़ाई में कैप्टन संजय के प्रयास सराहनीय रहे हैं। वह अपने संसाधनों का उपयोग करके ऐसे मरीजों को राहत पहुंचा रहे हैं। ताजा कड़ी में पराशर ने देहरा तहसील की खबली में आक्सीजन कंसंट्रेटर भेजा, जहां कोविड-19 मरीज की हालत बिगड़ गई थी। अब मरीज के स्वास्थ्य में सुधार दिखाई दे रहा है।

बुधवार देर शाम देहरा तहसील के खबली गांव से राम लाल ने संजय को फोन पर बताया कि उनके पिता तेजराम की तबीयत अचानक बिगड़ गई है और उन्हें सांस लेने में दिक्कत आ रही है। उन्हें बताया गया कि पिता को पिछले महीने कोरोना संक्रमण हुआ था, जिससे सेहत कमजोर हो गई। फोन करने के बाद ठीक दो घंटे के भीतर पराशर की टीम आक्सीजन कंसंट्रेटर लेकर घर पहुंच गई। मशीन लगने के बाद पाल के आक्सीजन लेवल में भी सुधार हुआ और वह पहले से खुद को बेहतर महसूस कर रहे थे। साहनी देवी ने पराशर का आभार जताते हुए कहा कि पराशर के बारे में सुना तो बहुत था, लेकिन जब उनकी टीम ने फोन करने के कुछ समय बाद ही आक्सीजन कंस्ट्रेटर पहुंचा दिया। ऐसे सज्जनों की हमारे समाज को बहुत ज्यादा आवश्यकता है।

रोड़ी-कोड़ी गांव में मरीज को दी व्हील चेयर

उधर, वीरवार को रोड़ी-कोड़ी गांव में एक मरीज को संजय की टीम ने व्हील चेयर दी। संजय का कहना था कि कोरोना काल के इस नाजुक समय में एक-दूसरे का सहयोग करना हम सबकी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। वर्तमान में हर किसी का भी नैतिक दायित्व बनता है कि जरूरतमंदों की सेवा के लिए किसी न किसी रूप में अपना हाथ बढ़ाते रहें। उनकी भी कोशिश रहती है कि फोन आने के तुरंत बाद आक्सीजन कंस्ट्रेटर मरीज के घर तक पहुंचाया जाए और इसके लिए स्पेशल प्रशिक्षित टीम का गठन किया गया है।

Edited By: Jagran