संवाद सहयोगी, चितपूर्णी : कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच कैप्टन संजय ने फिर से जसवां-परागपुर व आसपास के क्षेत्रों में मदद का अभियान शुरू कर दिया है। शनिवार को संजय की टीम ने जसवां-परागपुर क्षेत्र की स्यूल पंचायत के पपलोथर और चौली पंचायत के बरियाल बेहड़ा गांव में आक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाए जबकि रक्कड़ व पुननी में चार कोरोना संक्रमित मरीजों को फल, इम्युनिटी बूस्टर, आक्सीमीटर, मैगजीन व अखबारें उपलब्ध करवाई।

शनिवार सुबह पपलोथर गांव के वासी प्रिस ने संजय को फोन पर बताया कि उनके पिता ज्ञान चंद को सांस लेने में दिक्कत आ रही है। फोन आने के बाद एक घंटे के भीतर पराशर की टीम ने आक्सीजन कंसंट्रेटर घर पहुंचा दिया। वहीं, चौली के बरियाल बेहड़ा से रविन्द्र सिंह ने कैप्टन संजय को बताया कि उनके परिचित मेला राम की किडनी में दिक्कत है और अब सांस लेने में परेशानी हो रही है। टीम पराशर ने इस गांव में आक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचा दिया। चौली पंचायत की पूर्व प्रधान ममता कटवाल ने बताया कि इस तरह की निश्शुल्क व्यवस्था करके मरीजों को राहत पहुंचाना पुण्य कार्य है और पराशर ऐसे सामाजिक सरोकार हर रोज निभा रहे हैं। उधर, रक्कड़ और पुननी गांवों में भी पराशर की टीम ने दो कोरोना संक्रमित परिवारों के चार सदस्यों से मिलकर उनका हाल जाना और फल आक्सीमीटर व इम्युनिटी बूस्टर दिए। कैप्टन संजय ने कहा कि कोरोना संक्रमित कोई भी हो सकता है, लेकिन कोई व्यक्ति इस अवस्था में हताश या निराश न हो। वह खुद या टीम को मरीजों के घर पर हाल जानने के लिए जरूर जाते हैं।

Edited By: Jagran