जागरण टीम, चिंतपूर्णी/भरवाई :जागरण टीम, चिंतपूर्णी/भरवाई : भरवाई में रविवार को हुए बस हादसे के मामले में पुलिस तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज करने जा रही है। अब तक कोई भी आरोपित पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। मामूली कहासुनी के बाद चलती बस से ड्राइवर को बाहर खींच लेने से बस गहरी खाई में लुढ़क गई थी। हादसे में दो यात्रियों की मौत हो गई थी जबकि 35 से ज्यादा यात्री घायल हो गए थे। पुलिस ने इस हादसे के पीछे उन लोगों का हाथ माना है, जिनके टेंपो से बस की मामूली टक्कर के बाद झगड़ा हुआ था। बस में सफर कर रहे कई यात्रियों ने भी बयान दिए हैं कि बस चालक को जान-बूझकर गाड़ी से बाहर खींचा गया था। हादसे के बाद आरोपित मौके से भाग निकले थे। पुलिस के मुताबिक टेंपो चालक मंजीत ¨सह, रामनगर, लुधियाना का निवासी है। उसी ने टेंपो को मामूली खरोंच आने के बाद झगड़े को तूल दिया था। मंजीत के ही परिवार के एक अन्य सदस्य को भी पुलिस ने मुख्य आरोपित बनाया है। जबकि एक अज्ञात व्यक्ति जिसके बारे में अब तक कोई सुराग नहीं है, को भी आरोपित बनाया है। उसने भी बस ड्राइवर को सीट से नीचे उतारने में प्रमुख भूमिका निभाई थी। पुलिस ने आरोपित टेंपो चालक की पत्नी, जो टेंपो की मालकिन भी है, को अभी तक थाने में ही पूछताछ के लिए रखा है। पुलिस का दावा है तीनों आरोपितों को जल्द पकड़ लिया जाएगा। डीएसपी अम्ब जितेंद्र चौधरी ने दावा किया शीघ्र ही आरोपित पुलिस की हिरासत में होंगे। उधर, एसडीएम अम्ब सुनील वर्मा ने बताया इस मामले में टेंपो चालक और उसके साथ के ही लोगों का कसूर सामने आया है। पुलिस की जांच में यह खुलासा हो चुका है। कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Jagran