जागरण संवाददाता, ऊना : जिला परिषद ऊना की विशेष बुधवार को जिला परिषद हाल में हुई। बैठक की अध्यक्षता जिला परिषद की अध्यक्ष नीलम कुमारी ने की। बैठक में विभिन्न मुद्दों को लेकर चर्चा की गई। पंचायतीराज तंत्र में आ रही समस्याओं के बारे में भी विचार-विमर्श किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि पंचायतों में सोलर लाइट लगाने के लिए हिम ऊर्जा के अलावा प्राइवेट एजेंसी भी हायर की जाए। पंचायतों में स्ट्रीट लाइट लगाने की काफी मांग रहती है। अगर सरकार प्राइवेट कंपनी हायर करती है तो लोगों को जल्द उक्त सुविधा का लाभ मिल पाएगा। इसी मांग को लेकर जिला परिषद सदस्यों ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर सरकार को प्रेषित किया।

बैठक में 15वें वित्तायोग के तहत वित्त वर्ष 2020-21 व 21-22 के लिए प्राप्त अनुदान में से व्यय किए गए अनुदान की समीक्षा भी की गई। 15वें वित्त आयोग के 2022-23 का जिला पंचायत विकास योजना का सेल्फ उपलब्ध करवाने पर चर्चा की गई। इसके अलावा नई पंचायतों को पंचायत घरों के लिए बजट उपलब्ध करवाने बारे चर्चा की गई। सभी बीडीओ को दिशा-निर्देश दिए गए कि इनकी भूमि से संबंधित केस जल्द निपटाए जाएं।

जिला परिषद के उपाध्यक्ष कृष्णपाल शर्मा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में अन्य राज्यों के लोग आकर फेरी लगाकर सामान बेच रहे हैं जिससे सरकार के राजस्व को चूना लग रहा है। उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय व्यापारियों को भी हानि हो रही है, क्योंकि उक्त लोग कोई टैक्स नहीं दे रहे जबकि स्थानीय व्यापारी सरकार को टैक्स की अदायगी कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को इस दिशा में कड़ा संज्ञान लेना चाहिए।

इस मौके पर एडीसी अमित शर्मा, जिला परिषद सदस्य, डीपीओ श्रवण कश्यप, पंचायतीराज के एसडीओ, जेई व बीडीओ, जिला परिषद सदस्य रजनी मनकोटिया, निशा भुल्लर, कमल सैनी, सतीश कुमार, संगीता देवी, रमा कुमारी, गुलजार सिंह, अशोक कुमार, उर्मिला देवी, सत्या देवी, रजनी बाला उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran