राजेश शर्मा, ऊना

नशे की लत में फंसे एक युवक को मालूम नहीं था कि अनजाने में वह मौत को बुलावा दे रहा है। चिट्टे के नशे का आदी युवक बार-बार पुरानी सीरिज का इस्तेमाल करने से एचआइवी से ग्रस्त हो गया। अब वह जिदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार ऊना जिले में इस साल एचआइवी के 34 मामलों में चार नशे के कारण इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं।

एक युवक का स्वास्थ्य दिन-प्रतिदिन गिरने लगा। परिजनों ने उसे अस्पताल में पहुंचाया। डॉक्टरों ने जांच की तो एचआइवी पॉजीटिव पाया गया। अस्पताल में अब तक ऐसे चार युवाओं को एचआइवी संक्रमण से पीड़ित होने की पुष्टि हुई है। इन युवाओं से हुई काउंसिलिंग में यह बात सामने आई कि उन्होंने चिट्टे के नशे के लिए एक ही सीरिज का इस्तेमाल किया था। उन्हें कुछ ही दिन में हल्के बुखार की शिकायत रहने लगी। एक के बाद एक चार ऐसे मामले स्वास्थ्य विभाग के सामने आ चुके हैं। ये युवक करीब एक साल से चिट्टे का नशा करते थे। शुरू में मेडिकल स्टोर में उन्हें छोटी खाली सीरिज आसानी से प्राप्त होने लगी लेकिन नशे की लत में वे एक-दूसरे की सीरिज का इस्तेमाल करने लगे।

------------ इस साल स्वास्थ्य विभाग के पास अप्रैल से लेकर अब तक एचआइवी पॉजीटिव के 34 मामले पाए गए हैं। 19 वर्षीय युवक के इस तरह नशे की वजह से एचआइवी पॉजीटिव होने का मामला उजागर होने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। विभाग ने मेडिकल स्टोरों पर बिना कारण के सीरिज मांगने वालों को इसे न देने का आह्वान किया है। इस 19 साल के पीड़ित का उपचार ऊना अस्पताल में हा रहा है।

----------- नशे की प्रवृत्ति वाले लोग एक ही सीरिज और सूई का इस्तेमाल करते हैं जो एचआइवी ग्रस्त होने का मुख्य कारण बनता है। इस वर्ष चार लोग नशे की वजह से एचआइवी पॉजिटिव हुए हैं। इनमें दो युवा भी शामिल हैं। इनको जागरूक किया जा रहा है।

-डॉ. अजय अत्री, जिला एड्स कार्यक्रम अधिकारी। पूरा परिवार हुआ एचआइवी पॉजीटिव

एक ऐसे परिवार की भी पहचान हुई है जिसमें सभी सदस्य एचआइवी पॉजीटिव पाए गए हैं। इस परिवार की एक महिला की मौत एड्स से हुई थी जबकि घर का मुखिया एचआइवी पॉजीटिव है। वहीं सातवीं कक्षा में पढ़ रही बच्ची भी एचआइवी पॉजीटिव है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप