जागरण टीम, अम्ब : माता श्री चितपूर्णी चैत्र नवरात्र मेला 25 मार्च से शुरू हो रहा है जो दो अप्रैल तक चलेगा। मेले में व्यवस्था बनाने के लिए क्षेत्र को विभिन्न सेक्टरों में विभाजित किया जाएगा। एसडीएम अम्ब मेला अधिकारी होंगे जबकि डीएसपी अम्ब को पुलिस मेला अधिकारी नियुक्त किया गया है।

अतिरिक्त उपायुक्त अरिदम चौधरी ने बुधवार को बचत भवन अम्ब में नवरात्र मेलों की व्यवस्था को लेकर बैठक की। बताया मेला क्षेत्र को चार सेक्टर में बांटा जाएगा जबकि 200 पुलिस व 200 होमगार्ड सहित 50 महिला आरक्षी पुलिस तैनात की जाएगी। यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए श्रद्धालुओं की स्पेशल बसों को भरवाई में ही रोक दिया जाएगा। नियमित रूट की बसों को चितपूर्णी बस स्टैंड तक आने दिया जाएगा।

एडीसी ने एसडीएम अम्ब को निर्देश दिए कि कोई भी दुकानदार अतिक्रमण न कर पाए। यदि कोई ऐसा करता है तो कार्रवाई करें।

अरिदम चौधरी ने कहा श्रद्धालुओं को नए बस स्टैंड के नजदीक बहुउद्देशीय भवन में दर्शन पर्ची उपलब्ध करवाई जाएगी। आग की घटना से निपटने के लिए अग्निशमन वाहन भी तैनात रहेंगे। प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक ऊना डॉ. कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन, एएसपी विनोद कुमार, एसडीएम अम्ब तोरूल एस रवीश, डीएसपी अम्ब मनोज जम्वाल, सहायक अभियंता मंदिर न्यास राजकुमार जसवाल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

---------------------

नारियल चढ़ाने व ढोल नगाड़े बजाने पर रहेगा प्रतिबंध

एडीसी ने बताया मेले के दौरान श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाए जाने वाले नारियल के अतिरिक्त ढोल नगाड़े, लाउडस्पीकर व चिमटा इत्यादि बजाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। लंगर लगाने की अनुमति मंदिर कमेटी द्वारा निर्धारित शर्तो के अनुसार ही दी जाएगी। पूरे मेला अवधि के दौरान लंगर लगाने के लिए 10 हजार रुपये जबकि एक दिन के लिए एक हजार रुपये फीस देनी होगी। इसके अलावा पांच हजार रुपये बतौर सिक्योरिटी फीस जमा करवाने होंगे।

-----------------------

स्थापित होंगे विशेष चिकित्सा कैंप

अरिदम चौधरी ने कहा मेले के दौरान श्रद्धालुओं को आपातकालीन चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित कराने के लिए जहां चितपूर्णी व शीतला अस्पताल 24 घंटे अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे, वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक आयुर्वेदिक व तीन ऐलोपैथिक चिकित्सा केंद्र भी स्थापित किए जाएंगे। मंदिर न्यास की ओर से दवाएं दी जाएंगी।

-----------------------

स्वच्छ पानी व साफ सफाई पर ध्यान

एडीसी ने मेले के दौरान श्रद्धालुओं को स्वच्छ व साफ-सुथरा पेयजल मुहैया करवाने के लिए जलशक्ति विभाग को पेयजल स्रोतों की समुचित साफ-सफाई व पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए। विभागीय अधिकारियों से मेले के सफल आयोजन के लिए अपना हरसंभव सहयोग प्रदान करने का आह्वान किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस