जागरण टीम, चितपूर्णी : बेशक कोरोना वायरस का खतरा अभी टला नहीं है और सरकार से लेकर प्रशासन तक धार्मिक नगरी चितपूर्णी में श्रद्धालुओं को नियमों की दुहाई देकर इस वायरस के संक्रमण से बचने की सलाह दे रहे हैं। इसके बावजूद यहां शारदीय नवरात्र मेले में मां के दरबार में पहुंचने वाले भक्त न तो शारीरिक दूरी का ख्याल रख रहे हैं और न ही मास्क पहन रहे हैं। इस अव्यवस्था के मद्देनजर पुलिस ने भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात करने का निर्णय लिया है और मास्क न पहनने वालों के चालान काटने भी शुरू कर दिए हैं। मेले के पहले दो दिन में पुलिस ने ऐसे 19 लोगों के चालान काटे हैं। पुराना बस अड्डा को पार कर गई श्रद्धालुओं की कतारें

शारदीय नवरात्र में इस बार अप्रत्याशित भीड़ देखने को मिल रही है। रविवार को अवकाश का दिन था, तो बड़ी संख्या में श्रद्धालु देर रात ही यहां पहुंचना शुरू हो गए थे। पंजाब व हिमाचल में इंटरस्टेट बसें चलने के बाद भी यहां श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। मंदिर न्यास द्वारा रविवार को मंदिर के कपाट सुबह पांच बजे दर्शनों के लिए खोल दिए गए थे। इस दौरान मां के दर्शनों को लगी भक्तों की कतारें लंबे समय बाद आज पुराना बस अड्डा को पार कर गई श्रद्धालुओं को एक घंटे तक इंतजार करना पड़ा। चार बजे तक 12,376 श्रद्धालुओं ने कराया पंजीकरण

रविवार दोपहर बाद चार बजे तक मां के दर्शनों के लिए 12,376 श्रद्धालु अपना पंजीकरण करवा चुके थे। बावजूद इसके मां के दर्शनों के लिए लाइनों में लगे कई श्रद्धालुओं ने मास्क नहीं पहन रखा था और वे जल्दी दर्शन के चक्कर में शारीरिक दूरी का जरा भी ध्यान नहीं रख रहे थे। मेला शुरू होने से पहले बाकायदा मंदिर आयुक्त व जिला उपायुक्त संदीप कुमार ने यहां आने वाले श्रद्धालुओं से अपील कि थी कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए बुजुर्ग, बीमार या बच्चे चितपूर्णी में दर्शन करने के लिए इन दिनों में न पहुंचे, लेकिन देखने में आ रहा है कि कई बुजुर्ग श्रद्धालु भी यहां पहुंच रहे हैं। कई अभिभावक अपने छोटे बच्चों को भी साथ लेकर आ रहे हैं। जारी रहेगी चालान काटने की कार्रवाई

मेला अधिकारी व अम्ब के एसडीएम मनीष यादव ने बताया कि भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे मुख्य बाजार और मंदिर परिसर क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा। पुलिस मेला अधिकारी सृष्टि पांडे ने बताया कि मास्क न पहनकर आने वाले श्रद्धालुओं से अब सख्ती की जाएगी। मेले में पहले नवरात्र के दिन सात और दूसरे दिन 12 लोगों के बिना मास्क के चालान किए गए हैं। बताया कि नवरात्र के अगले दिनों में भी यह कार्रवाई जारी रहेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस