संवाद सहयोगी, ऊना : जिला के अलग-अलग गांवों में चार बच्चों सहित नौ लोगों को आवारा कुत्तों ने दांत गड़ाए हैं। घायल हालत में सभी को परिजनों ने क्षेत्रीय अस्पताल ऊना पहुंचाया है। यहां पर सभी को एंटी रेबीज इंजेक्शन दिया गया है। सभी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है।

पहले मामले में ऊना जिला के गांव फतेहपुर की रहने वाली 80 वर्षीय वृद्धा राम कौर को आवारा कुत्ते ने काट लिया। वह घर से गांव के रास्ते पर कहीं जा रही थी। कुत्ते ने उसकी टांग के पास दांत गड़ाए। आसपास के लोगों ने उसे कुत्ते के चंगुल से छुड़ाया।

दूसरे मामले में ऊना की स्तोथर निवासी 40 वर्षीय सुषमा को भी एक आवारा कुत्ते ने काटा है। परिजनों ने उसे तुरंत क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में उपचार दिलाया। वहीं, तीसरे मामले में ऊना के झुड़ोवाल की रहने वाली 60 वर्षीय म¨हद्रा देवी को भी गांव के पास कुत्ते ने काट दिया। वह बुधवार को निजी काम से जा रही थी कि एक कुत्ता उस पर झपट पड़ा। उधर, चौथे मामले में धुसाड़ा निवासी 38 वर्षीय मोहम्मद इदरिश को भी गांव के पास एक कुत्ते ने काट लिया। पांचवें मामले में बंगाणा निवासी छह वर्षीय बच्चे सोमांश को भी आवारा कुत्ते ने काट लिया। सोमांश घर के पास बच्चों संग खेल रहा था। इसी बीच एक कुत्ते ने हमला कर दिया। परिजनों ने उसके रोने की आवाजें सुन मौके पर पहुंच कुत्ते को वहां से भगाया। छठे मामले में ऊना के नजदीकी गांव चताड़ा में घर के पास खेल रहे पांच वर्षीय बच्चे पुनीत व सात वर्षीय अंकित को भी एक कुत्ते ने काट लिया। परिजनों ने कुत्ते के चंगुले से दोनों को छुड़ा तुरंत ऊना अस्पताल पहुंचाया।

वहीं, सातवें मामले में मैहतपुर से सटे नंगल शहर के सात वर्षीय विराट को भी कुत्ते ने काट लिया। आठवें मामले में ऊना के नजदीकी डंगोली में 13 वर्षीय रोहित को भी कुत्ते ने दांत गड़ा दिए। रोहित बुधवार को दास्तों संग रास्ते पर जा रहा था कि एकाएक आया आवारा कुत्ता उस पर झपट पड़ा।

उधर, ऊना अस्पताल के एसएमओ डॉ. रामपाल ने बताया कि सभी को परिजनों ने क्षेत्रीय अस्पताल ऊना पहुंचाया था। चिकित्सीय परामर्श के बाद इन्हें टीकाकरण तथा उपचार दिया गया है। आगामी दिनों में उपचार लेने के परामर्श के साथ सभी को छुट्टी दे दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप