संवाद सहयोगी, चितपूर्णी : प्रदेश लेक्चरर्स संघ ने वर्ष 2003 पूर्व नियुक्त हुए स्कूल लेक्चरर के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट के पेंशन संबंधी निर्णय को शीघ्र लागू करने की मांग की है। संघ के प्रांतीय प्रेस सचिव राजन शर्मा ने बताया कि वर्ष 2003 से पूर्व के लगे अनुबंध लेक्चरर जो अब नियमित हो गए हैं, के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का पेंशन देने संबंधी निर्णय आया है। संघ ने इस निर्णय को शीघ्र लागू करने का सरकार से आग्रह किया है।

बुधवार को यहां जारी प्रेस बयान में राजन शर्मा ने बताया कि कोर्ट का निर्णय लागू न होने के कारण काफी लेक्चरर बिना पेंशन के ही रिटायर हो रहे हैं जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने शिक्षा मंत्री गोविद ठाकुर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व शिक्षा सचिव से आग्रह किया है कि इस निर्णय को शीघ्र लागू किया जाए। साथ ही लेक्चरर संघ ने सरकार से पुरानी पेंशन प्रणाली को बहाल करने की मांग उठाई है।

संघ के प्रांतीय सचिव ने कहा कि वर्षों तक सेवाएं देने के बाद कर्मचारी वर्ग को पेंशन से वंचित रखना न्यायसंगत नहीं है। इस बारे में सरकार को ज्ञापन भी दिया गया है। संघ के अन्य नेताओ में प्रदेश अध्यक्ष केसर सिंह ठाकुर, उपाध्यक्ष विकास रतन और महासचिव संजीव ने संघ की लंबित पड़ी मांगों को भी शीघ्र पूरा करने का आग्रह किया है। बताया कि संघ ने अपनी मांगों का एजेंडा तैयार किया है और मांगों के समर्थन में संघ प्रदेश के प्रधान केसर सिंह ठाकुर के नेतृत्व में शीघ्र मुख्यमंत्री, शिक्षा सचिव एवं शिक्षा निदेशक से भेंट करेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस