v style="text-align: justify;">नालागढ, संवाद सूत्र। सोलन जिले के बद्दी स्थित एक उद्योग में कर्मचारियों का पैसा हड़पने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बद्दी पुलिस ने कामगारों का ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) का पैसा हड़पने पर एक कंपनी के एमडी (प्रबंध निदेशक) को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को नालागढ़ कोर्ट में आरोपी को पेश किया गया और चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया। 

 
बद्दी-साईं मार्ग पर स्थित रेल के कलपुर्जे बनाने वाली कंपनी सलीसेलिट के एमडी विजय कुमार निवासी मोहाली, पंजाब ने वर्ष 2015-16 में 500 कामगारों का एक करोड़ रुपये वेतन से काट किया, लेकिन उसे ईपीएफ विभाग में जमा नहीं  करवाया। कुछ समय बाद यह कंपनी बंद हो गई। कामगारों के वेतन का 12 फीसद और कंपनी की ओर से 13.15 फीसद पैसा पीएफ विभाग में जमा करवाना होता है, लेकिन कंपनी प्रबंधन अपने यहां कार्यरत कामगारों को धोखा देता रहा। नियमों के अनुसार उनके वेतन से ईपीएफ की कटौती होती रही, लेकिन इसे जमा करवाने से कंपनी बचती रही।
 
कामगारों को घोटाले का पता तब चला जब वे ईपीएफ निकालने कार्यालय गए। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि कंपनी के एमडी ने ईपीएफ का पैसा जमा ही नहीं करवाया है। जबकिकामगारों के वेतन यह पैसा काट लिया गया था। अधिकारियों ने 27 अक्टूबर, 2016 को आरोपी विजय कुमार के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। बद्दी के एसपी गौरव सिंह ने बताया कि आरोपी को मोहाली से गिरफ्तार कर लिया है। उसे मंगलवार को अदालत में पेश किया जहां से नौ फरवरी तक पुलिसरिमांड भेजा है।
 
कंपनी की वित्तीय स्थिति काफी खराब है। इसी कारण पैसा जमा नहीं करवा पाए थे। कंपनी संचालकों ने पहले 34 लाख रुपये जमा करवाया और मंगलवार को 61 लाख रुपये कर्मचारी भविष्य निधि में जमा करा दिया है।
-अंकुश उप्पल
प्रशासनिक अधिकारी, कंपनी। 

 

Posted By: Babita

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस