संवाद सूत्र, दाड़लाघाट : सड़कें ऐसा घाव हैं, जिसकी टीस हर समय उठती हैं। आए दिन दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। सड़कों को गड्ढे बनाने के दावे में कितनी सच्चाई है। इस बात की कहानी दाड़लाघाट की सड़कें खुद-ब-खुद बताती हैं। हकीकत यह है कि यहा की सड़कें गड्ढों में तबदील हो गई हैं। यही हाल राष्ट्रीय राजमार्ग पर अंबुजा चौक दाड़लाघाट की है। सड़क की खस्ता हालत के चलते वाहन चालक परेशान है। यही नहीं जगह-जगह पड़े गढ्डों से हादसे की भी आशका बनी हुई है। इस सड़क पर उद्योग होने से भारी-भरकम वाहनों का आना जाना लगा रहता है। इससे सड़क जल्द क्षतिग्रस्त हो जाती है। सड़क पर जगह-जगह पड़े गढ्डों से वाहन चालकों को तो क्या पैदल चलने वाले भी दिक्कत झेलनी पड़ रही है। स्थानीय निवासी अनिल गुप्ता, नरेश ठाकुर, अरुण, अमित, नागेंदर, चमन, जय सिंह आदि ने बताया कि दाड़लाघाट बाजार सड़क की हालत बदतर हो गई है। सबसे च्यादा मुश्किल सड़क में चलने वाले लोगों को हो रही है। इसके अलावा राहगीरों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सड़क खराब होने के कारण अंबुजा चौक के समीप सड़क की पंचिंग निर्माण कार्य कुछ समय पूर्व किया गया था पर कुछ समय मे ही पंचिंग गढ्डों में तबदील हो गई। सड़क के बीचों-बीच बड़े - बड़े गढ्डे बन गए हैं। इनमें बारिश का पानी जमा होने के कारण ये तालाब का रूप ले चुके हैं। पानी जमा होने के कारण वाहन चालक जान जोखिम में डालकर सड़क से गुजरते हैं। सड़क पर बने गढ्डे दिनों-दिन और गहरे होते जा रहे हैं। इस महत्वपूर्ण सड़क से प्रतिदिन राच्य के आला-अधिकारियों और वीआईपी का आना-जाना लगा ही रहता है। बावजूद इसके इन गड्ढों को भरने की दिशा में भी कोई पहल नहीं की जा रही है। स्थानीय लोगों ने माग की है कि जल्द से जल्द इन गढ्डों को ठीक करवाया जाए या पंचिंग दोबारा से की जाए।

Posted By: Jagran