संवाद सूत्र अर्की : अर्की विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव को देखते हुए पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद हो गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोलन अशोक वर्मा ने बताया कि क्षेत्र में गश्त को बढ़ा दिया गया है। हर आपराधिक गतिविधि पर नजर बनाए रखने के लिए स्थानीय पुलिस के साथ पैरामिलिट्री के जवान मुस्तैद हैं। ग्लोग व जयनगर सहित कई स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और वाहनों की जांच की जा रही है। पुलिस द्वारा सरकार के आदेश अनुसार अर्की उपचुनाव क्षेत्र में मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करवाने के लिए विभिन्न मतदान केंद्रों पर फ्लैग मार्च निकाला गया व संवेदनशील मतदान केंद्रों का जायजा लिया गया। मतदान केंद्रों पर लोगों को दी ईवीएम की जानकारी

संवाद सहयोगी, सोलन : अर्की विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव में शत-प्रतिशत मतदान सुनिश्चित बनाने के उद्देश्य से स्वीप कार्यक्रम के तहत मंगलवार को विभिन्न मतदान केंद्रों पर लोगों को इलेक्ट्रानिक वोटिग मशीन (ईवीएम) तथा वीवीपैट के बारे में जानकारी प्रदान की गई। स्वीप कार्यक्रम के नोडल अधिकारी शिव कुमार ने बताया कि अर्की निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न मतदान केंद्रों पर बूथ स्तर के अधिकारियों तथा पंचायत सचिवों के माध्यम से ईवीएम तथा वीवीपैट के बारे में बताया गया। लोगों को बताया गया कि मतदान करने के उपरांत मतदाता वीवीपैट पर सात सैकेंड तक यह देख सकता है कि उसने किस उम्मीदवार को वोट डाला है। लोगों जानकारी दी गई कि 80 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गो व दिव्यांग मतदाताओं के लिए अपने घर से ही मतदान करने की सुविधा प्रदान की गई है। अर्की विधानसभा क्षेत्र में 950 से अधिक मतदाताओं वाली संख्या वाले मतदान केंद्रों के साथ लोगों की सुविधा के लिए सहायक 22 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। इस मौके पर स्वीप टीम के पुनीत ठाकुर, संजय वर्मा भी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran