संवाद सूत्र, परवाणू : लायंस क्लब ने परवाणू के ईएसआइ अस्पताल में आई स्कैनर लगवाने का निर्णय लिया है। क्लब के सदस्यों ने स्कैनर से परवाणू के एक निजी स्कूल के करीब 600 बच्चों की आंखों की जाच की। यह जानकारी क्लब के अध्यक्ष समिंदर गर्ग ने दी। उन्होंने बताया कि जाच के दौरान लगभग 50 से अधिक ऐसे बच्चे सामने आए, जिनको आंखों में समस्या थी, मगर उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा कि बड़ों के मुकाबले बच्चों की आंखों में कई दृष्टि दोष ऐसे होते हैं, जिन्हे बच्चे समझ नहीं पाते हैं। आई स्कैनर से बच्चों में होने वाले दृष्टि दोष का समय रहते जांच कर सही इलाज किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ईएसआइ अस्पताल में आई स्कैनर है, लेकिन उससे जाच करने के लिए उसे कहीं और नहीं ले जाया जा सकता। क्लब द्वारा दिए गए स्कैनर को किसी भी स्थान पर ले जाया जा सकता है और इसके लिए किसी भी चिकित्सक या प्रशिक्षित व्यक्ति की जरूरत नहीं पड़ती। इस स्कैनर को कोई भी आम व्यक्ति चला सकता है। क्लब ने 10 हजार बच्चों की आखों की जाच का लक्ष्य रखा गया है।

इस अवसर पर पार्षद राजेश शर्मा, विनीत गोयल, तरुण गर्ग, सचिन गोयल, पीके शर्मा, रमन पुरी, संजय चौहान, पीआइए संचालक संदीप प्रभाकर व अरुण अग्रवाल मौजूद रहे।

Posted By: Jagran