संवाद सहयोगी, सोलन : निजी बसों की हड़ताल के चलते टैक्सी व ऑटो चालकों ने मनमाने रेट वसूलना शुरू कर दिए हैं। जिला भर में दूसरे दिन भी निजी बस चालकों की हड़ताल जारी रही। इससे मंगलवार को भी आम जाना खासी परेशान हुई। एचआरटीसी द्वारा चलाई गई अतिरिक्त बसें भी विभिन्न रूटों पर दौड़ती रहीं। सुबह से समय छात्रों व कर्मचारी बस अड्डों पर निगम की बसों का इंतजार करते नजर आए। एचआरटीसी बसों में भी इस दौरान भारी भीड़ रही।

निजी बस ऑपरेटर की राच्य व्यापी हड़ताल का जिला में दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी रहीं। बसों के हड़ताल के चलते जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसके अलावा शहर व आसपास के क्षेत्रों के लिए चलने वाली लोकल बसें बंद होने के कारण ऑटो व टैक्सी चालकों ने मनमाने दाम व वसूलने शुरू कर दिए। इससे लोगों को मजबूरी में तय किराए से अधिक किराया देना पड़ रहा है। मंगलवार को सोलन से शिमला, सिरमौर, कंडाघाट, अर्की, कुनिहार, परवाणू, कालका व अन्य रूटों पर चलने वाली सभी निजी बसें खड़ी रहीं। दूसरी तरफ सोलन से नौणी, ओच्छघाट, शामती, चंबाघाट, न्यू बस स्टेंड व डीसी चौक व पुराना बस स्टेंड को चलने वाली बसें न चलने से जनता को टैक्सी व ऑटो का मनमाना किराया देकर सफर करना पड़ रहा है। इस मजबूरी का फायदा उठाकर टैक्सी व ऑटो चालक चांदी कूटने में लगे हैं। इस पर प्रशासन द्वारा लगाम लगाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। निजी बस ऑपरेटर अनिश्चितकालीन बस हड़ताल से जिला भर में आम जनता को आने जाने में भारी दिक्कतों को झेलना पड़ा। सोलन, कंडाघाट, परवाणू, अर्की, नालागढ़ व बद्दी सहित अन्य क्षेत्रों में निजी बसों के पहिए जाम रहे। इस पर एचआरटीसी सोलन के आरएम सुरेश धीमान ने बताया कि हड़ताल के चलते एचआरटीसी की अतिरिक्त बसें भी चलाई जा रही हैं। इसके अलावा कर्मचारियों को भी विशेष तौर पर दिश निर्देश दिए गए हैं।

इस पर शूलिनी निजी बस आपरेटर यूनियन के प्रधान रघुविंद्रा सिंह मेहता ने बताया कि सरकार जब तक ऑपरेटर की मांगों को पूरा नहीं करती तब तक हड़ताल जारी रहेगी। मंगलवार शाम को मुख्यमंत्री के साथ होने वाली बैठक के बाद ही हड़ताल समाप्त करने का फैसला लिया जाएगा।

Posted By: Jagran