संवाद सूत्र, नालागढ़ : औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में बरसात में आपदा से निपटने के लिए प्रशासन मुस्तैद हो गया है। आपदा व आपात स्थिति में तुरंत मदद पहुंचाने के दृष्टिगत कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है। तहसीलदार नालागढ़, बद्दी व रामशहर को नोडल आफिसर नियुक्त कर दिया गया है। विभिन्न विभागों के 32 अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी आपात स्थिति में तुरंत मदद पहुंचाने के लिए लगाई गई है। कंट्रोल रूम 24 घंटे खुला रहेगा। बरसात से निपटने के लिए प्रशासन की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इस संबंध में विभिन्न विभागों के अधिकारियों को भी दिशानिर्देश दिए गए हैं।

उपमंडल प्रशासन ने नदी-नालों व खड्डों किनारे बसे हुए लोगों व अन्य राज्यों के लोगों को विस्थापित करने के पहले ही राजस्व विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए हैं। एसडीएम महेंद्र पाल गुर्जर ने कहा कि मिनी सचिवालय में कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया गया है। किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्थिति में कंट्रोल रूम तुरंत सहायता मुहैया करवाएगा। ----------------

नदी-नालों व खड्डों किनारों से लोग होने लगे विस्थापित

बीबीएन में नदी-नालों व खड्डों किनारे रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों में पहुंचाने के लिए प्रशासन ने कमर कस दी है, ताकि बरसात में कोई अप्रिय घटना न घट सके। प्रशासन ने तहसीलदार नालागढ़, बद्दी व रामशहर और नायब तहसीलदार पंजैहरा को निर्देश जारी कर दिए हैं। प्रशासन का कहना है कि वर्षा ऋतु में उपमंडल के विभिन्न नदी-नालों एवं खडडों का जलस्तर बढ़ने से किसी भी समय अप्रिय घटना घट सकती है। ऐसे में आवश्यक है कि विभिन्न नदी नालों एवं खड्डों के साथ स्थित प्रवासियों की बस्तियों को सुरक्षित स्थानों पर स्थापित किया जाए।

Edited By: Jagran