नाहन, जेएनएन। जिला एवं सत्र न्यायाधीश नाहन देवेंद्र शर्मा की अदालत ने बुधवार को फिरौती व किडनैपिंग के दोषी दंपती को 3 साल का कठोर कारावास व 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जिला न्यायवादी एमके शर्मा ने बताया नरेश कुमार पुत्र श्यामलाल निवासी बागनथ अनिल वाटर टैंक गली नंबर 2 त्रिलोकपुर रोड कालाअंब ने 29 जनवरी 2015 को पुलिस थाना कालाअंब में इस संबंध में शिकायत दर्ज करवाई थी। शाम को उसके भाई का चार साल का बेटा गायब हो गया था। 30 जनवरी को पड़ोसी नरेश कुमार के किरायेदार शकील अहमद के मोबाइल नंबर पर प्रीति जदौन ने फोन करके केशव के बारे में उसके ताया नरेश से बात करवाने को कहा।

प्रीति जदौन ने नरेश को बताया कि केशव उसके कब्जे में है, उसके बदले में उसे 15 लाख रुपये चाहिएं। जिस पर नरेश कुमार ने कालाअंब पुलिस थाने में फिरौती व किडनैपिंग का मामला दर्ज करवाया। कालाअंब पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस निवासी अजीतपुर के श्याम सुंदर पुत्र प्रेम शंकर व उसकी पत्नी प्रीति को हिरासत में लिया। उनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने जब उनके कमरे की तलाशी ली, तो 4 वर्षीय केशव श्याम सुंदर व प्रीति के कमरे में चारपाई के नीचे छुपाया हुआ मिला। उसके शरीर पर मारपीट के निशान भी पाए गए। जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने किडनैपिंग व फिरौती के दोषी दंपती श्याम सुंदर व प्रीति जदौन को दोषी मानते हुए तीन वर्ष का कठोर कारावास व दस हजार रुपये जुर्माना न अदा करने की सूरत में छह माह का अतिरिक्त कारावास की सजा सुनाई।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप