नाहन, जागरण संवाददाताजिला सिरमौर के पच्छाद उपमंडल की बागथन पंचायत में एक विवाहिता ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। हालांकि अभी पता नहीं चल पाया है कि विवाहिता ने ऐसा ख़ौफ़नाक कदम क्यों उठाया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और जांच के बाद ही मौत के कारणों से पर्दा उठ सकेगा। बताया जा रहा है कि रीना की शादी बीते साल अगस्त माह में कुडलु निवासी वीरेंद्र सिंह से हुई थी। महिला जिला मंडी की रहने वाली थी, जिसने प्रेम विवाह किया था। प्रेम विवाह करने के बावजूद मात्र पांच महीने बाद ही विवाहिता ने ऐसा खौफनाक कदम क्‍यों उठा लिया, यहां जांच का बड़ा विषय बना हुआ है।

जानकारी के मुताबिक बागथन पंचायत के कुडलु गांव में 29 वर्षीय विवाहिता रीना देवी ने अपने घर पर कमरे में फंदा लगा दिया। काफी समय तक महिला रसोईघर में नहीं आई तो परिवार के सदस्‍य उसे देखते हुए कमरे में पहुंचे, यहां देखा तो रीना फंदे से झूल रही थी। विवाहिता को जब स्पताल पहुंचाया गया, तब तक काफी देर हो चुकी थी। बहरहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामले की पुष्टि एसपी अजय कृष्ण शर्मा ने की है।

मंडी की ही एक अन्‍य युवती से हुए अत्‍याचार का दो दिन पहले वीडियो भी वायरल हुआ है। जिस पर स्‍वयं सीएम जयराम ठाकुर ने संज्ञान लेते हुए कार्रवाई का आदेश‍ दिया और आरोपित पति और सास सलाखों के पीछे पहुंचा दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश में महिलाओं पर अत्‍याचार लगातार बढ़ता जा रहा है। प्रदेश पुलिस को भी इस संबंध में कड़े कदम उठाने की जरूरत है, ताकि महिलाओं के खिलाफ अपराध पर लगाम लग सके। वहीं महिलाओं को भी जागरूक होने की जरूरत है। परिवार के विरूद्व जाकर अपनी मर्जी से जल्‍दबाजी में उठाया गया कदम भी खतरनाक साबित हो सकता है, इस पर भी युवाओं को विचार करना चाहिए।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस